हिमाचल: पर्यटन क्षेत्र पर असर दिखना शुरू

File Photo

हिमाचल प्रदेश में कोरोना का असर कम होने और कर्फ्यू की बंदिशों को कम करने का अब पर्यटन क्षेत्र पर असर दिखना शुरू हो गया है। सूबे के पर्यटक शहरों शिमला, मनाली, धर्मशाला और डलहौजी में पर्यटकों की आमद बढ़ गई है। पिछले एक हफ्ते के दौरान अकेले राजधानी शिमला में ही 2500 से ज्यादा पर्यटकों ने दस्तक दी। कर्फ्यू में सुबह नौ से दोपहर दो बजे तक ढील और वाहनों से घूमने वालों से पुलिस की ज्यादा रोक-टोक न होने की वजह से अब होटल, टैक्सी व ढाबा संचालकों के पुराने दिन लौटने शुरू हो गए हैं।

पर्यटकों की संख्या बढ़ने की वजह से न सिर्फ व्यवसायिक संस्थानों में रौकन बढ़ गई है बल्कि सभी की आमदनी में भी इजाफा होने लगा है। कोरोना कर्फ्यू की वजह से सभी की माली हालत बेहद खराब हो गई थी। लेकिन शुक्रवार को होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में रियायतें बढ़ने की संभावना के साथ ही अब राहत की उम्मीद जग गई है। आंकड़ों की बात करें तो शिमला के अलावा धर्मशाला में पिछले एक हफ्ते के दौरान 400, डलहौजी में पचास और मनाली में भी 1000 पर्यटक पहुंचे। जाहिर है अगर शुक्रवार को मंत्रिमंडल की बैठक में कर्फ्यू हटाने या रियायतें बढ़ाने पर फैसला होता है तो इससे पर्यटन सीजन को काफी मदद मिलेगी।

दस दिन में पहुंचे 65 हजार से ज्यादा लोग
शिमला। पिछले दन दिन के दौरान हिमाचल प्रदेश में 65 हजार से ज्यादा लोगों ने प्रवेश किया है। कोविड ई पास साफ्टवेयर पर 29 हजार 548 पास जारी किए गए जबकि 65 हजार 384 लोग प्रदेश के अंदर दाखिल हुए। इनमें सोलन में 14866, कांगड़ा में 12733, ऊना में 9742, कुल्लू में 6471, शिमला में 5307, मंडी में 4628, हमीरपुर में 115, बिलासपुर में 2615, सिरमौर में 2216, चंबा में 2184, लाहौल स्पीति में 337 और किन्नौर में 190 लोग पहुंचे हैं।