हिमाचल: शहरवासियों की जगह गांववाले शराब पीने में आगे, खुलासा

हिमाचल में 15 साल से अधिक उम्र के 31.9 फीसदी पुरुष शराब पीते हैं। खास बात है कि शहरवासियों की जगह गांववाले शराब पीने में आगे हैं। शहरों में शराब पीने वालों की तादाद 30.4 फीसदी, जबकि गांवों में 32.1 फीसदी है। हिमाचल में शराब पीने वाली महिलाओं की संख्या भी 0.6 फीसद है। ग्रामीण क्षेत्रों में 0.7 और शहर में 0.3 फीसदी महिलाएं शराब पीती हैं। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2019-20 की रिपोर्ट से मिली है। इस रिपोर्ट के पहले हिस्से में देश के 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आंकड़े जारी किए गए हैं। हिमाचल में ये सर्वे 16 जुलाई, 2019 से पांच नवंबर, 2019 के बीच हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के जनसंख्या अनुसंधान केंद्र द्वारा किया गया। इस सर्वे की जानकारी 10,696 परिवारों, 10,368 महिलाओं और 1477 पुरुषों से ली गई।
रिपोर्ट में हिमाचल को लेकर और भी चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। 15 साल से अधिक उम्र के तंबाकू का सेवन करने वाले पुरुषों की तादाद 32.3 फीसदी है, ग्रामीण स्तर पर ऐसे पुरुषों की तादाद 33.4 फीसदी है, जबकि ग्रामीण स्तर पर 25.4 फीसदी। प्रदेश में 1.7 फीसदी महिलाएं भी तंबाकू का सेवन करती हैं।  प्रदेश के जिलों की बात की जाए, तो बिलासपुर में 33.3 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं। यहां शराब पीने वालों की तादाद कम है। चंबा में 40.3 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं। यहां शराब पीने वालों की तादाद भी लगभग 40.5 प्रतिशत है।
यहां की 2.5 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू का सेवन करती है। जिला हमीरपुर में शराब के मुकाबले तंबाकू का सेवन करने वाले महिलाएं और पुरुष अधिक हैं। यहां के 33.0 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का सेवन करते हैं। तंबाकू खाने वाली महिलाएं 0.7 प्रतिशत हैं। प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कांगड़ा में तंबाकू के मुकाबले शराब का सेवन करने वाले महिला और पुरुष अधिक हैं। 34.1 प्रतिशत पुरुष शराब का सेवन करते हैं, तंबाकू का सेवन करने वाली महिलाएं 1.2 प्रतिशत हैं। किन्नौर का नाम प्रदेश में सबसे अधिक नशा करने वाले जिलों में है। यहां 44.1 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं, जबकि शराब पीने वाले पुरुषों की तादाद 50.6 प्रतिशत है। किन्नौर की 2.0 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू का सेवन करती हैं। उधर, कुल्लू जिला में 33.6 प्रतिशत पुरुष तंबाकू और 33.7 प्रतिशत पुरुष शराब का सेवन करते हैं, जबकि 1.4 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू का सेवन करती हैं। लाहुल स्पीति में दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा नशे का प्रयोग किया जाता है। यहां के 47.9 प्रतिशत पुरुष शराब पीते हैं, तंबाकू पीने वाले पुरुषों की तादाद 33.5 प्रतिशत हैं। जिला की 1.8 प्रतिशत महिलाएं शराब पीती हैं। मंडी में 31.7 प्रतिशत पुरुष तंबाकू तथा 35.0 प्रतिशत शराब का सेवन करते हैं। तंबाकू खाने वाली महिलाएं 1.4 प्रतिशत हैं।
 सिरमौर में 27.3 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं। यहां शराब पीने वाले पुरुष 22.2 प्रतिशत हैं। तंबाकू का सेवन करने वाली महिलाएं 4.1 प्रतिशत हैं। बात शिमला जि की हो, तो यहां के 34.4 प्रतिशत पुरुष शराब पीते हैं,जबकि 31.7 प्रतिशत तंबाकू खाते हैं। यहां की 0.7 प्रतिशत महिलाएं भी शराब का सेवन करती है। सोलन में 29.0 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं। यहां शराब पीने वाले पुरुषों की तादाद 27.4 प्रतिशत है। 2.9 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू का सेवन करती हैं। ऊना में 31.0 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं। यहां शराब पीने वाले पुरुषों की तादाद 23.9 प्रतिशत है। यहां कि महिलाएं काफी कम नशा करती हैं।
किन्नौर में सबसे ज्यादा नशा करते हैं लोग, सिरमौर में सबसे कम
जनजातीय जिला किन्नौर में शराब और तंबाकू का सेवन करने वाले पुरुषों की संख्या सबसे अधिक हैं। यहां 50.6 प्रतिशत पुरुष शराब तथा 44.1 प्रतिशत तंबाकू का सेवन करते हैं। सिरमौर में सबसे कम लोग नशे की गिरफ्त में हैं। यहां 27.3 प्रतिशत पुरुष तंबाकू का प्रयोग करते हैं, जबकि शराब पीने वालों की तादाद 22.2 प्रतिशत है। जिला में तंबाकू का सेवन करने वाली महिलाएं 4.1 प्रतिशत है।