हिमाचल : व्यावसायिक वाहनों की डिवाइस से होगी ट्रैकिंग

हिमाचल के हर छोटे-बड़े करीब 2.48 लाख व्यावसायिक वाहनों में लोकेशन ट्रैकिंग डिवाइस सिस्टम लगेगा। वाहन की सटीक लोकेशन मोबाइल पर एक एप्लीकेशन के माध्यम से ट्रैक की जा सकेगी। इससे वाहनों में सफर कर रहीं महिलाओं, स्कूली बच्चों और बुजुर्गों की सुरक्षा पुख्ता होगा। प्रदेश में कुल 16 लाख 60 हजार वाहन रोज सड़कों पर दौड़ते हैं। इनमें करीब 2 लाख 48 हजार व्यावसायिक वाहन हैं।

परिवहन विभाग के निदेशक कैप्टन जेएम पठानिया ने बताया कि डिवाइस लगने से बस, ट्रक से लेकर अन्य छोटे वाहनों को ट्रैक किया जा सकेगा। देश में हिमाचल ऐसा पहला राज्य बनेगा, जहां यह सुविधा शुरू की जा रही है। विभाग ने संबंधित सेवा प्रदाता कंपनियों को इंपैनल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कंपनियों को वेब पोर्टल बनाने के साथ-साथ एप्लीकेशन भी तैयार करनी होगी।

यह एप्लीकेशन पुलिस, परिवहन विभाग, वाहन मालिक, स्कूल मैनेजमेंट और बच्चों के अभिभावकों के पास मोबाइल पर उपलब्ध रहेगी। परिवहन विभाग की मानें तो महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए यह डिवाइस सबसे ज्यादा फायदेमंद है। स्कूल प्रबंधन को जहां अपनी बसों की लोकेशन का पता रहेगा वहीं अभिभावक भी अपने मोबाइल पर बस में बैठे बच्चों की लोकेशन देख सकेंगे।