हिमाचल में युवाओं के लिए कोरोना वैक्सीन का टोटा, 400 वैक्सीनेशन सेंटर बंद

शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का टोटा है और इसके चलते  सरकार ने प्रदेश में 400 वैक्सीनेशन सेंटर बंद कर दिए हैं. केंद्र की ओर से हिमाचल को वैक्सीन उपलब्ध न होने के बाद सरकार को ये सेंटर बंद करने पड़े हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, हिमाचल में वैक्सीनेशन के लिए 700 वैक्सीनेशन सेंटर (Vaccination Centers) बनाए गए थे. लेकिन अब 300 सेंटरों पर ही वैक्सीन लगाई जा रही है. इनमें 200 शहरी और 100 ग्रामीण क्षेत्रों के सेंटर शामिल हैं.

अहम बात यह है कि पिछले 17 दिन से हिमाचल में 18 से 44 साल के किसी भी शख्स को वैक्सीन नहीं लगी है. ऐसे में आने वाले समय में भी प्रदेश में 18 से 44 साल तक के लोगों को वैक्सीन नहीं लगेगी. सरकार ने फैसला लिया है कि जब तक 5 लाख अतिरिक्त डोज स्वास्थ्य विभाग के पास उपलब्ध नहीं हो जाती हैं, तब तक वैक्सीन नहीं लग पाएगी.

अपनी बारी का इंतजार कर रहे लोग
हिमाचल प्रदेश में 18 साल से ज्यादा उम्र के 55 लाख लोगों को वैक्सीन लगनी है. अभी तक प्रदेश में 32 लाख 58 हजार लोगों को पहली, जबकि 9.60 लाख लोगों को दूसरी डोज लगनी है. अन्य लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं. 18 से 45 साल तक लोगों को इस महीने वैक्सीन लगाने की संभावनाएं नजर नहीं आ रही हैं. इस वर्ग में 12 लाख लोगों को वैक्सीन लगी है, जबकि इनकी संख्या साढ़े 31 लाख है. काफी जद्दोजहद के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हिमाचल को डेढ़ लाख वैक्सीन डोज की सप्लाई भेजी है. हिमाचल में अभी 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को ही वैक्सीन लगाई जा रही है.

हिमाचल में कोरोना का हाल
हिमाचल प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 204224 पहुंच गया है. अब तक 199582 संक्रमित ठीक हो चुके हैं और 1136 सक्रिय मामले हैं. उधर, 3488 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. वहीं, शुक्रवार को सोलन में 10 लोगों में कोरोना का डेल्टा वेरिएंट पाया गया है. इसका खुलासा जीनोम स्टडी में हुआ है. ये सैंपल जिला स्वास्थ्य विभाग ने रैंडम आधार पर लगभग एक से डेढ़ माह पहले जांच के लिए भेजे थे.