हिमाचल में आज से मिलना शुरू होगा मौसम का सटीक पूर्वानुमान

हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार से मौसम का सटीक पूर्वानुमान मिलना शुरू हो जाएगा। शिमला से सटे कुफरी में प्रदेश के पहले डोपलर वैदर रडार का शुक्रवार को नई दिल्ली से केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन वर्चुअल माध्यम से शुभारंभ करेंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बतौर विशेष अतिथि मौजूद रहेंगे। अभी तक पटियाला के रडार से ही प्रदेश में मौसम का पूर्वानुमान तय होता था। प्रदेश में ही यह सुविधा मिलने से मौसम विज्ञान केंद्र शिमला को बड़ी मदद मिलेगी। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया कि इंटिग्रेटिड हिमालयन प्रोजेक्ट के तहत यह रडार स्थापित किया गया है।

कुफरी में स्थापित किया डोपलर वैदर रडार सौ किलोमीटर के रेडियस का एरियल डिस्टेंस कवर करेगा। कुछ देर बाद मौसम में आने वाले बदलाव की भी जानकारी जल्द मिलेगी। बारिश, बर्फबारी, अंधड़, ओलावृष्टि और बिजली गरजने की सटीक जानकारी मिलेगी। यह रडार चौबीस घंटे काम करेगा। आधुनिक तकनीक से युक्त यह रडार पूरी तरह कंप्यूटरीकृत है। इससे डिजिटल और पिक्चर के माध्यम से जानकारी प्राप्त होगी। डॉ. मनमोहन सिंह ने बताया कि बादलों की दिशा और उनमें पानी की मात्रा की जानकारी देने का काम भी रडार करेगा। अभी तक यही बताया जाता था कि किस जिले में बारिश-बर्फबारी होगी, लेकिन अब जिले में किस जगह बादल बरसेंगे, यह भी बताया जा सकेगा। बताया कि शुक्रवार से कुफरी का डोपलर वैदर रडार आधिकारिक तौर पर काम करना शुरू कर देगा।