हिमाचल: मंडी और सिरमौर में जिप अध्यक्ष बनाना भाजपा के लिए आसान नहीं

हिमाचल प्रदेश के मंडी और सिरमौर जिले में भाजपा के लिए जिला परिषद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की कुर्सी हासिल करना आसान नहीं है। सीएम जयराम ठाकुर के गृह जिले मंडी में बहुमत के बावजूद जहां दोनाें पद हासिल करने के लिए पार्टी के भीतर ही जंग जारी हो गई है, वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप के जिले सिरमौर में भाजपा-कांग्रेस में बराबरी की टक्कर के बाद बाजी निर्दलीय पार्षद नीलम शर्मा मार सकती हैं। यहां सत्ता के लिए कम पड़ रहा एक नंबर हासिल करने के लिए कांग्रेस ने निर्दलीय पार्षद को अपने पाले में डाल लिया है। कांग्रेस उसे अध्यक्ष बनाकर खुद उपाध्यक्ष का पद हासिल कर सकती है। यहां पहली फरवरी को दोनों पदों के लिए चुनाव होगा।

 

बताया जा रहा है कि सिरमौर जिले में प्रदेश अध्यक्ष कश्यप के ही गृह वार्ड से निर्दलीय विजेता नीलम शर्मा ने हाथ का साथ दिया है। पार्टी सूत्र बताते हैं कि नीलम को कांग्रेस जिप अध्यक्ष का उम्मीदवार बना सकती है। हालांकि, जब तक ताजपोशी नहीं होती, तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता। भाजपा खेमा भी जोड़तोड़ में जुटा है। जिला परिषद सिरमौर में कांग्रेस और भाजपा को आठ-आठ वार्डों में जीत मिली है। बहुमत के लिए नौ का आंकड़ा जरूरी है। दोनों दल निर्दलीय पर निर्भर हैं। भाजपा विचारधारा की नीलम को पार्टी ने समर्थित उम्मीवार नहीं बनाया। प्रदेश अध्यक्ष के ही गृह वार्ड बाग पशोग से अपने दम पर नीलम ने जीत दर्ज की।

अब कांग्रेस ने नीलम को अपने साथ जोड़ने का दावा किया है। कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने बहुमत जुटाने का दावा करते हुए निर्दलीय और आठ कांग्रेस समर्थित विजेता जिप सदस्यों का समूह चित्र सोशल मीडिया पर वायरल भी कर दिया। अब 30 जनवरी को शपथ ग्रहण समारोह में ये उपस्थित होंगे या नहीं, इस पर असमंजस है। विधायक हर्ष वर्धन चौहान ने बताया कि कांग्रेस ने बहुमत जुटा लिया है। उधर, सीएम के गृह जिला मंडी में जिप अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की कुर्सी के लिए भाजपा के भीतर लड़ाई शुरू हो गई है।

जिला परिषद चुनाव में विजय पताका फहराने के बाद भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, सीएम जयराम के करीबियों से लेकर वरिष्ठ मंत्री महेंद्र सिंह की बेटी से लेकर संघ से लेकर पार्टी तक अच्छी पैठ रखने वाले कुर्सी तक पहुंचने की जुगत में हैं। सीएम के सराज दौरे में भी बुधवार देर शाम तक जिला परिषद की ताजपोशी को लेकर मंथन चलता रहा। मौके की नजाकत देखते हुए सीएम के शेड्यूल में भी बदलाव करना पड़ा है। सीएम अब 29 जनवरी को जिला परिषद के शपथ समारोह वाले दिन ही मंडी से धर्मशाला जाएंगे। 28 को सीएम मंडी सर्किट हाउस में रहेंगे और यहां अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के नामों की घोषणा कर सकते हैं। मंडी में 36 जिला परिषद की सीटों में से बीस पर भाजपा जीती है।

मैहला बीडीसी अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव में बवाल
पंचायत समिति हॉल मैहला में नवनिर्वाचित पंचायत समिति सदस्यों की शपथ ग्रहण के बाद बीडीसी अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव में खूब बवाल हुआ। पुलिस को मौके पर बुलाना पड़ा। स्थिति को देखते हुए चुनाव रविवार तक टाल दिया गया है।