हिमाचल: बिजली बिल न भरने पर 10 विधायकों को नोटिस, चार से छह महीने का नहीं किया भुगतान

बढ़ती महंगाई से लगता है आम जनता ही नहीं, विधायकों की जेबें भी खाली हो गई हैं। इसका अंदाजा इसी से लगता है कि बिजली बिल न भरने पर विद्युत बोर्ड ने प्रदेश के दस विधायकों को नोटिस जारी कर दिया है। अगर 15 दिनों के भीतर बिल नहीं चुकाया तो उनके बिजली कनेक्शन अस्थायी तौर पर काट दिए जाएंगे। बोर्ड के उच्चाधिकारियों के मुताबिक, विधायकों के आवासीय मकान में पिछले चार से छह महीने के बिजली बिलों का भुगतान नहीं किया गया है।

इसमें पांच हजार से लेकर 20 हजार तक के बिलों का भुगतान होना है। उधर, बोर्ड ने शहर के खलीनी स्थित ईस्ट बान होटल का बिजली कनेक्शन अस्थायी तौर पर काट दिया है। होटल में पांच बिजली मीटर लगे थे। इनमें चार व्यावसायिक और एक घरेलू था। चार मीटरों को अस्थायी तौर पर काट दिया गया है। इसके अलावा एक मीटर को काटने के लिए नोटिस थमाया है। होटल मालिक पर करीब 52 लाख रुपये का बिजली बिल बकाया है।

बोर्ड के सहायक अभियंता राकेश कुमार ने बताया कि व्यावसायिक, घरेलू, औद्योगिक इकाइयों के उपभोक्ताओं को बिलों का भुगतान न करने पर नोटिस जारी किए गए हैं। 15 दिन में बिल नहीं भरे तो कनेक्शन अस्थायी तौर पर काट दिए जाएंगे।

प्रदेश भर में 300 करोड़ के बिल लंबित
बिजली बोर्ड के मुताबिक प्रदेश भर में करीब 300 करोड़ रुपये के बिल लंबित हैं। इसी मुहिम के तहत बोर्ड ने उपभोक्ताओं से बिलों को वसूलने के लिए नोटिस जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

1 हजार से अधिक बकाया वाले उपभोक्ताओं को जारी हो रहे नोटिस
विद्युत बोर्ड ने एक हजार से अधिक बिजली बिल बकाया वाले उपभोक्ताओं को नोटिस जारी किए हैं। कई उपभोक्ता ऐसे भी हैं, जिन्हें बोर्ड की ओर से डिफाल्टर घोषित कर दिया है। बोर्ड जल्द ऐसे उपभोक्ताओं की सूची जारी करेगा।