हिमाचल प्रदेश में स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 आठ नवंबर से शुरू

स्वच्छता में रैंकिंग के लिए हिमाचल प्रदेश में स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 आठ नवंबर से शुरू होगा। प्रदेश के 282 गांवों में रैंडम आधार पर केंद्र की टीम स्वच्छता मापदंडों का निरीक्षण करेगी। इसके बाद विभिन्न मानकों पर आधारित एक हजार अंकों में से जिले को रैकिंग दी जाएगी।

देशभर में होने वाले इस सर्वे के बाद सबसे स्वच्छ जिले की रैकिंग सामने आएगी। अपने जिले की स्वच्छता संबंधी फीडबैक देने के लिए लोग एसएसजी 2021 एप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कर महज पांच प्रश्नों का उत्तर देकर इस सर्वे में भागीदार बन सकते हैं। एक हजार अंकों में से 350 अंक नागरिकों की फीडबैक के आधार पर दिए जाएंगे। सीधे निरीक्षण के 300 नंबर और साढे़ तीन सौ नंबर विभागीय योजनाओं के कार्यान्वयन आदि के रखे गए हैं। केंद्र से आने वाली टीम प्रदेश के 282 गांवों का निरीक्षण करेगी। ये गांव कोई भी हो सकते हैं।

निरीक्षण से महज एक दिन पहले गांव की जानकारी विभाग को दी जाएगी, जिससे विभाग उस गांव के निरीक्षण की तैयारी कर ले। अगले दिन निरीक्षण किया जाएगा। गांवों में स्वच्छता, ओडीएफ निरीक्षण, शौचालय, ठोस और तरल कचरा प्रबंधन, सूचना एवं संप्रेषण कार्यक्रम, 80 फीसदी घरों में स्वच्छता के सभी प्रबंधों आदि मानकों का निरीक्षण किया जाएगा।

यह निरीक्षण 23 दिसंबर तक चलेगा। इसके बाद एक हजार अंकों में सबसे अधिक अंक पाने वाले गांवों के आधार पर उस जिले का आकलन कर देशभर में उसे रैकिंग दी जाएगी। परियोजना अधिकारी एवं उपनिदेशक डीआरडीए केडीएस कंवर ने कहा कि लोग एसएसजी 2021 एप डाउनलोड कर अपने क्षेत्र की स्वच्छता स्थिति की फीडबैक दे सकते हैं। जब टीम आएगी तो गांवों में जाकर भी स्वच्छता मानकों का निरीक्षण होगा।