हिमाचल: निजी बस ऑपरेटर अपनी मांगों को लेकर 3 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

कुल्लू: हिमाचल प्रदेश में निजी बस ऑपरेटर (Private Bus Operator) ने मांगों को लेकर डीसी कुल्लू (DC Kullu) के माध्यम से मुख्यमंत्री (CM) को ज्ञापन भेजा है. साथ ही चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वह 3 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे.

दरअसल, हिमाचल प्रदेश के निजी बस ऑपरेटर पिछले 8 माह से अपनी मांगों को लेकर सरकार के पास लगातार गुहार लगाते आ रहे हैं तथा सरकार भी बार-बार आश्वासन दे रही है, लेकिन अभी तक इस पर कोई भी फैसला नहीं लिया गया है.

क्या मांग कर रहे हैं बस संचालक
निजी बस ऑपरेटर बढ़ती महंगाई एवं सवारियां कम होने के कारण बस बसें चलाने में असमर्थ है तथा आजकल भी 10 से 15 प्रतिशत से प्रदेश में चल रही है 15 अप्रैल 2021 को हिमाचल दिवस के मौके पर तीन माह का 50 प्रतिशत टैक्स माफ करने की घोषणा की है, जबकि पिछले 8 माह का टैक्स अभी भी बकाया है. बस ऑपरेटर की मांगों की में मुख्यता टैक्स माफी एवं कार्यशील पूंजी को लागू करना है, लेकिन सरकार बार-बार आश्वासन देने के लिए के बावजूद भी इस पर कोई फैसला नहीं ले रही है, हालांकि 25 मार्च 2021 को प्रधान सचिव परिवहन की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें फैसला लिया गया था कि अप्रैल माह की कैबिनेट बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की जाएगी. लेकिन अभी तक इस मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं की और ना ही इस पर कोई फैसला हुआ है. इसलिए निजी बस ऑपरेटर अपनी बसें खड़ी करने को मजबूर है.

नहीं तो फिर होगी हड़ताल
निजी बस संचालकों ने 24 अप्रैल 2021 को वर्चुअल मीटिंग की और प्रदेश निजी बस ऑपरेटर की वर्चुअल माध्यम से हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि सरकार ने अगर 8 दिन के अंदर सकारात्मक फैसला नहीं लिया तो हिमाचल निजी बस ऑपरेटर संघ के आह्वान पर निजी बस ऑपरेटर 3 मई 2021 से अपनी बसों का संचालन पूरी तरह से बंद कर देंगे.