हिमाचल प्रदेश: बारिश से हुए भूस्खलन से जनजीवन अस्तव्यस्त, पांच बसें फंसी

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू और लाहौल-स्पीति जिले में लगातार तीसरे दिन बारिश का दौर जारी है। लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। कुल्लू व लाहौल की ऊंची चोटियों का हिमपात हुआ है। रोहतांग दर्रा, बारालाचा, तंगलंगला, कुंजम और शिंकुला दर्रा पर बर्फबारी के बाद सफर जोखिम भरा हो गया है।

नेशनल हाईवे 305 पर जगह-जगह भूस्खलन होने से निगम की पांच बसों के साथ सवारियां फंस गई हैं। रविवार सुबह से बारिश का क्रम जारी है। ब्यास, पार्वती नदी का जलस्तर बारिश के बाद बढ़ गया है। बारिश के नेशनल हाइवे तीन में जिया से रामशिला, भुंतर-मणिकर्ण सहित अन्य मार्गों पर भूस्खलन का खतरा बढ़ गया है। चौकीडोभी गांव के लोग रात भर चैन की नींद नहीं हो पाए हैं। भूस्खलन की जद में दो मकान यहां पहले ही आ चुके हैं।

अब बरसात में अन्य मकानों को भी खतरा पैदा हो गया है। वहीं नांगचा गांव के साथ लगती पहाड़ी से भी पत्थर गिरने का सिलसिल जारी है। वहीं बारिश का सिलसिला जारी रहने से सेब व अनार का तुड़ान प्रभावित हो गया है। खराब मौसम को देखते हुए प्रशासन ने लोगों से एहतियात बरतने की अपील की है।