हिमाचल पर्यटन क्षेत्र में होगा और इजाफा, 1500 करोड़ के एमओयू साइन

पर्यटन में रुचि दिखाते हुए मनाली इन्वेस्टर्स मीट कनक्लेव में निवेशकों ने एक दिन में ही 1500 करोड़ के एमओयू पर्यटन के क्षेत्र में ही साइन किए। इसके तहत नए रिजॉर्ट और होटलों का निर्माण होगा, जो पर्यटन कारोबार के लिए मील पत्थर साबित होंगे।

1500 करोड़ के इस निवेश से न केवल मनाली के पर्यटन की तस्वीर बदलेगी, बल्कि यहां पर विश्व स्तर की सुविधाएं भी पर्यटकों को मिलेंगी। एमओयू के तहत मनाली सहित समूची घाटी में विभिन्न स्थानों पर कई रिजॉर्ट और होटलों का निर्माण होगा।

मिनी इन्वेस्टर्स मीट में निवेशकों ने हर क्षेत्र में निवेश की खासी दिलचस्पी दिखाई। निवेशकों ने पर्यटन क्षेत्र के अलावा बागवानी, हाईड्रो, एडवेंचर, हथकरघा सहित अन्य क्षेत्रों में उद्योग लगाने की इच्छा भी जाहिर की।

एक दिन में 1500 करोड़ के एमओयू साइन होने का मतलब है कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बावजूद हिमाचल पर्यटन की दृष्टि से निवेशकों की पहली पसंद है। मुख्यमंत्री ने उनकी योजनाओं को जल्द स्वीकृति प्रदान करने का आश्वासन दिया है।

मनाली होटलियर एसोसिएशन के प्रधान अनूप राम ठाकुर ने कहा कि सरकार की ओर से अनछुए पर्यटन स्थलों के विकास के लिए जिस प्रकार से कार्य कर रही है, वह सरकार की सकारात्मक सोच को दर्शाता है। सरकार के सकारात्मक रवैये से दूरदराज के पर्यटन स्थलों के लिए रोप वे और रिजॉर्ट का निर्माण मनाली में पर्यटकों की संख्या बढ़ाएगा।