हिमाचल: दो-दो डिजिटल क्लासरूम बनेंगे , 418 सरकारी स्कूलों और 12 डाइट में

File photo

हिमाचल प्रदेश के छठी से जमा दो कक्षा वाले 418 सरकारी स्कूलों और 12 डाइट में दो-दो डिजिटल क्लासरूम बनाए जाएंगे। वर्चुअल क्लासरूम बनाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक कारपोरेशन ने टेंडर आमंत्रित कर लिए हैं। इन सभी 860 कक्षाओं को राजधानी शिमला स्थित सेंट्रल स्टूडियो से जोड़ा जाएगा। 16 अप्रैल को इस बाबत प्री बिड बैठक आयोजित होगी। 29 अप्रैल दोपहर तीन बजे तक टेंडर जमा होंगे। 30 अप्रैल को टेंडर खोले जाएंगे।

सॉफ्टवेयर में विद्यार्थियों के लॉगइन आईडी बनाने का प्रावधान भी किया जाएगा। इसके माध्यम से विद्यार्थी कभी भी लॉगइन कर वीडियो और ऑडियो के जरिये पढ़ाई कर सकेंगे। शिक्षकों को इस तकनीक को समझाने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। चयनित कंपनी की ओर से सभी 430 स्कूलों और डाइट में प्रशिक्षक भी नियुक्त होंगे। परीक्षाएं और दाखिले लेने की प्रक्रिया को भी ऑनलाइन किया जाएगा।

प्रदेश के कई स्कूलों में शिक्षकों की कमी के चलते पढ़ाई प्रभावित न हो, इसके लिए सरकार ने यह योजना बनाई है। पहले चरण में 860 कक्षाओं में आधुनिक सुविधाएं देने का फैसला लिया है। अगले चरण में अन्य स्कूलों को इसमें शामिल किया जाएगा। वर्चुअल क्लासरूम के माध्यम से प्रदेश के अन्य डिजिटल क्लासरूम वाले स्कूलों में बिना शिक्षक के भी संबंधित विषय की पढ़ाई करवाई जा सकेगी।

सुविधाएं
डिजिटल क्लासरूमों में डेस्कटॉप, यूपीएस, वेब कैमरा, मल्टी फंक्शन प्रिंटर, ऑडियो सिस्टम, माइक्रोफोन और डीटीएच टीवी की सुविधा होगी। इन सभी चयनित स्कूलों में हाई स्पीड इंटरनेट सुविधा होगी।

छठी से जमा दो कक्षा के लिए कंटेंट होगा तैयार
इस योजना के तहत छठी से जमा दो कक्षा के लिए कंटेंट तैयार किया जाएगा। हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में शिक्षण सामग्री तैयार की जाएगी। प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के पाठ्यक्रम का ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से कंटेंट तैयार किया जाएगा।