हिमाचल : टैक्सी और ट्रक यूनियनों ने 30 फीसदी तक किराया बढ़ा

पिछले दिनों से लगातार बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के दामों का असर हिमाचल प्रदेश में भी दिखने लगा है। प्रदेश के टैक्सी और ट्रक यूनियनों ने 30 फीसदी तक किराया बढ़ा दिया है। इसका सीधा असर आम लोगों की जेब पर पड़ रहा है। कोरोना काल में पहले से खराब माली हालत से गुजर रहे लोगों को अब महंगाई ने झटका दे दिया है। डीजल के दाम बढ़ने से निर्माण सामग्री भी महंगी होगी और राशन की कीमतें भी बढ़ रही हैं। किसान-बागवान भी महंगाई की चक्की में पिसेंगे। बीबीएन में ट्रक यूनियन किराया बढ़ाने का दबाव बना रही है। ऐसे में उद्योगों पर भी मार पड़ेगी।

बिलासपुर जिले में एसीसी सीमेंट फैक्टरी में ढुलाई में लगी बिलासपुर जिला ट्रक सोसायटी (बीडीटीएस) के भाड़े में एक माह में 1.43 रुपये प्रतिकिलोमीटर की बढ़ोतरी हुई है। यह पहले 9.05 रुपये प्रति किलोमीटर था। बिलासपुर में 1 मार्च से टैक्सी यूनियनें डीजल गाड़ियों का 15 फीसदी और पेट्रोल वाली गाड़ियों का 20 फीसदी किराया बढ़ाएंगी। उधर, हमीरपुर जिले के ट्रक ऑपरेटरों ने 30 फीसदी मालभाड़ा बढ़ा दिया है। ऊना में टैक्सी किराया जो पहले 1000 रुपये तक होता था, वह अब 1300 रुपये वसूला जा रहा है। कुल्लू जिले में लोकल रूटों पर चलने वाली टैक्सियों का किराया 50 रुपये प्रति सवारी बढ़ा दिया है। हिमाचल ट्रक यूनियन अखाड़ा बाजार ने फैक्ट्रियों में लगे ट्रकों का दिल्ली का किराया 12 फरवरी से 800 रुपये बढ़ा दिया है।

जिले में ट्रक यूनियनों का कहना है कि अगर डीजल के दाम ऐसे ही बढ़ते रहे तो मार्च से किराया फिर से बढ़ाया जाएगा। हिमाचल टैक्सी यूनियन मनाली के प्रधान गुप्त राम ने कहा कि मार्च से किराया बढ़ाने पर विचार करेंगे। उधर, सिरमौर ट्रक यूनियन यूनियन पांवटा ने डीजल के दाम बढ़ने पर भाड़े में दो फीसदी बढ़ोतरी कर दी है। चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज पांवटा इकाई और सिरमौर ट्रक यूनियन पांवटा ने संयुक्त रूप से आपसी सहमति से यह फैसला लिया है। दोनों पक्षों में 2 रुपये प्रति किलोमीटर/प्रति टन किराया बढ़ाने पर सहमति बनी है। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच मंडी ट्रक यूनियन ने 25 फीसदी तक किराया बढ़ा दिया है। सेरी मंच टैक्सी यूनियन के प्रधान संजय कुमार ने बताया कि जल्द बैठक कर किराया बढ़ाने पर विचार करेंगे। शिमला में पिकअप यूनियन ने एक हफ्ते में ही चंडीगढ़ का किराया 122 से बढ़ाकर 142 रुपये प्रति क्विंटल तक कर दिया है।