हिमाचल: कॉलेजों में बनेंगे वर्चुअल क्लास रूम

हिमाचल के सभी कॉलेजों में अब वर्चुअल क्लास रूम बनाए जाएंगे। शिक्षण संस्थानों में डिजिटल ब्लैक बोर्ड भी स्थापित किए जाएंगे। सोमवार को नई दिल्ली में हुई प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड की बैठक में केंद्र सरकार ने इसके लिए हिमाचल सरकार को फंड देने की हामी भरी। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के सचिव उच्च शिक्षा आर. सुब्रमण्यम  की अध्यक्षता में हुई बैठक में यूजीसी, एआईसीटी सहित विभिन्न विभागों के शिक्षा सचिव मौजूद रहे। हिमाचल की ओर से उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा बैठक में शामिल हुए।

वर्चुअल क्लास रूम के माध्यम से प्रोफेसरों की कमी से जूझ रहे कॉलेजों में पढ़ाई करवाई जाएगी। इस तकनीक से प्रोफेसर एक कॉलेज में बैठकर अन्य कॉलेजों में बैठे विद्यार्थियों को पढ़ाई करवा सकते हैं। प्रदेश सरकार भी इसको लेकर काम कर रही है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने बजट भाषण में वर्चुअल क्लास रूम शुरू करने की घोषणा की है। इसी कड़ी में केंद्र सरकार से इस योजना के तहत फंड मिलने से प्रदेश सरकार की राह कुछ आसान होगी।

बैठक के दौरान उच्च शिक्षा निदेशक ने वर्चुअल क्लास रूम का मामला उठाया। केंद्र सरकार ने प्रस्ताव को लेकर सकारात्मक आश्वासन देते हुए फंड देने की बात कही। इसके अलावा कॉलेजों में डिजिटल ब्लैक बोर्ड लगाने को भी पैसा देने की सहमति बनी। उच्च शिक्षा निदेशक ने बताया कि पीएबी की बैठक में कॉलेजों में रोजगारोन्मुखी शिक्षा देने पर जोर दिया गया।