हिमाचल कैबिनेट बैठक आज, इन बड़े मुद्दों पर होगी चर्चा

हिमाचल कैबिनेट की बैठक आज शिमला सचिवालय में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हो रही है। इस बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा के अलावा कई पर निर्णय भी लिया जा सकता है। शिमला समेत चार जिलों में लगे नाइट कर्फ्यू को बढ़ाने पर सरकार फैसला ले सकती है। इसके अलावा कोविड के चलते सामाजिक कार्यक्रमों पर लगाई गई बंदिशों पर भी समीक्षा के बाद रियायत को लेकर फैसला लिया जा सकता है। शिमला और सोलन टीसीपी एरिया से गांवों को बाहर करने के मामले में कैबिनेट में चर्चा होनी है। पंचायत चुनाव की प्रदेश में तैयारियां जोरशोर से चल रही हैं। जनवरी में पंचायतों का कार्यकाल खत्म हो रहा है। इसलिए चुनाव करवाने पर भी सरकार कैबिनेट में चर्चा कर सकती है। इसके अलावा कुछ विभागों में विभिन्न पद भरने की घोषणा भी की जा सकती है।

टीसीपी) क्षेत्र से 400 गांवों को बाहर करने पर सरकार कैबिनेट बैठक में कोई फैसला ले सकती है। सरकार के पास प्रदेश भर से करीब 400 आवेदन आए हैं। कैबिनेट सब कमेटी की इसको लेकर बैठक हो चुकी है। अब इस मामले को कैबिनेट की बैठक में लाया जा रहा है। दूसरे, एनजीटी की ओर से शिमला प्लांनिग एरिया में जो ढाई से अधिक मंजिला भवन पर रोक लगाई है, उस रोक के खिलाफ सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई न होने पर अब सरकार वहां से मामला वापस लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर करेगी, ताकि मामले पर जल्द सुनवाई हो और लोगों के हक में फैसला आए।
उधर टीसीपी विभाग ने दोनों मामलों का प्रस्ताव तैयार किया है। अब सरकार मामले को कैबिनेट में ला रही है। प्रदेश की जनता की ओर से गांवों को बाहर करने के लिए शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज पर दबाव बनाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान दर्जनों गांव टीसीपी में शामिल किए थे। लोगों को जब भवन निर्माण करने में दिक्कतें पेश आईं तो लोगों ने नियमों का विरोध करके सरकार से गांवों को टीसीपी से बाहर करने की गुहार लगाई है। लोगों की परेशानियों को समझते हुए शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज विभाग के अधिकारियों की बैठक बुला चुके हैं। इसमें दोनों मामलों पर चर्चा हो चुकी है। अब कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया जाना है।

\