स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार’ समारोह में रा. मा. पा. लाणा-मियूँ को प्रथम पुरस्कार से समानित

0
1

 डाइट नाहन में आयोजित जिला स्तरीय ‘स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार’ समारोह में राजकीय माध्यमिक पाठशाला लाणा-मियूँ को शिक्षा खण्ड नारग के लिए माध्यमिक स्तर पर प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ. प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों के इस पुरस्कार समारोह में यह पाठशाला प्रथम 11 में स्थान प्राप्त करने में सफल रही. पाठशाला प्रभारी निशिकांत शर्मा (टीजीटी नॉन-मेडिकल) इस पुरस्कार प्राप्ति का ज्यादा श्रेय अशोक शर्मा (शास्त्री) को देते हैं जो संस्कृत भाषा के अध्यापक हैं. जिन की कड़ी मेहनत एवं सराहनीय प्रयासों से पहले भी इस पाठशाला को दो बार जिला स्तर पर स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार प्राप्त हो चुका है. इस के आलावा कला टीजीटी शोभा रानी, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी देशराज, सभी अभिभावकों, माता-पिता, विद्यालय प्रबन्धन समिति एवम् सभी बच्चों का भी पूर्ण सहयोग मिलता रहा.


इसी पुरस्कार प्राप्ति के उपलक्ष में राजकीय माध्यमिक पाठशाला लाणा-मियूँ की विद्यालय प्रबंधन समिति, अभिभावकों, अध्यापकों एवं बच्चों ने मिलकर एक सादे समारोह का आयोजन कर जश्न मनाया. संयोगवश इसी दिन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बसाहां के प्रधानाचार्य महोदय बचित्तर पाल सिंह जी भी अपने दो अन्य सहयोगीयों अनिल शर्मा (प्रवक्ता रसायन विज्ञान) एवं श्री सुनील दत्त (सीआरसीसी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बसाहां कंपलेक्स) पाठशाला में निरीक्षण हेतु पधारे थे. साथ ही बीआरसीसी अपर प्राइमरी शिक्षा खंड नारग भी निरीक्षण कार्य हेतु पाठशाला में आए थे. इन सभी की उपस्थिति में समारोह और भी खुशनुमा हो गया. इन सभी ने अपने विचारों से उपस्थित जनसमूह एवं बच्चों को लाभान्वित किया.

उल्लेखनीय है कि निशि कांत शर्मा (टीजीटी नॉन-मेडिकल) इस वर्ष 2-2 पुरस्कार प्राप्त करके खुद को गौरवान्वित एवं गर्वान्वित महसूस कर रहे हैं, क्योंकि इसी वर्ष 22 मार्च को जिला स्तर पर आयोजित ‘उत्कृष्ट विद्यालय प्रबंधन समिति पुरस्कार’ कार्यक्रम में भी इन्होंने डाइट नाहन में ही आयोजित समारोह में डॉ बिंदल के कर कमलों द्वारा राजकीय माध्यमिक पाठशाला गढ़ासर के लिए उत्कृष्ट सेवा पुरस्कार प्राप्त किया था.