सैलानियों के लिए 20 दिन बाद खुले अटल टनल रोहतांग के द्वार, बर्फ से लदीं वादियों के कर सकेंगे दीदार

सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण अटल टनल रोहतांग के दीदार करने के लिए सैलानियों का लंबे समय से चला आ रहा इंतजार खत्म हो गया है। 20 दिन बाद एक बार फिर जिला प्रशासन ने सैलानियों के लिए अटल टनल रोहतांग के द्वार खोल दिए हैं। छह जनवरी को अटल टनल के दोनों छोर सहित जनजातीय क्षेत्र लाहौल-स्पीति में भी भारी बर्फबारी के बाद सात जनवरी को प्रशासन ने इसे सैलानियों के लिए बंद कर दिया था। अटल टनल रोहतांग बंद होने के चलते मनाली घूमने आए सैलानियों को मायूस होकर वापस लौटना पड़ रहा था।

प्रशासन ने एक बार फिर अधिसूचना जारी कर पर्यटकों को तय समय में घाटी में प्रवेश करने की अनुमति दे दी है। अब पर्यटक कुछ ही समय में अटल टनल होकर लाहौल पहुंच सकेंगे। लाहौल में इन दिनों स्नो फेस्टिवल का आयोजन चल रहा है। पर्यटक स्नो फेस्टिवल का भी लुत्फ उठा सकेंगे। पर्यटकों को लाहौल की संस्कृति से रूबरू होने का मौका भी मिलेगा।

वहीं घाटी के कारोबारियों को भी पर्यटन गतिविधियों से जुड़ने का मौका मिलेगा। उपायुक्त लाहौल-स्पीति पंकज राय ने कहा कि खुशनुमा मौसम को देखते हुए गुरुवार से पर्यटकों को अटल टनल में आने की अनुमति प्रदान की गई है। पर्यटक वाहनों को सुबह 10 से 11 और दोपहर 12 से 3 बजे तक अटल टनल से भेजा जाएगा।

शाम चार बजे पर्यटकों को वापस लौटना होगा। वहीं, 11 से 12 बजे तक टनल रखरखाव के चलते पहले की तरह एक घंटा बंद रहेगी। सिस्सू, केलांग, उदयपुर और जिस्पा सहित लाहौल में होटल व होम स्टे की बुकिंग दिखाने वाले पर्यटकों को लाहौल की तरफ जाने दिया जाएगा।

अन्य सैलानियों को शाम को सिस्सू से वापस मनाली लौटना होगा। पर्यटकों के लिए पार्किंग की व्यवस्था सिस्सू हेलीपैड में कर दी है। कोई भी पर्यटक सड़क के किनारे गाड़ी पार्क नहीं करेंगे।