सीबीआई : कोल्ड चेन प्रोजेक्ट में हुए करोड़ों के घोटाले की जांच पूरी

कोल्ड चेन प्रोजेक्ट में हुए करोड़ों रुपये के घोटाले में सीबीआई ने जांच पूरी कर जिला अदालत चक्कर की सीबीआई की विशेष अदालत में चालान पेश कर दिया है। सोलन के कसौली में 300 मीट्रिक टन क्षमता वाले कोल्ड चेन प्रोजेक्ट के नाम पर अफसरों की मिलीभगत से करोड़ों का घोटाला हुआ था। सीबीआई ने दो फर्मों के दस्तावेज भी जब्त किए थे, जिसमें अनुदान के नाम पर किए गए फर्जीवाड़े का पूरा ब्योरा मिला था।

सीबीआई की ओर से पेश किए गए चालान के मुताबिक हिलक्रेस्ट फूड्ज फर्म ने कोटी गांव में प्रोजेक्ट के लिए केंद्रीय खाद्य प्रसाधन मंत्रालय से करीब सात करोड़ का अनुदान तो लिया था, लेकिन न तो प्लांट लगाया और न ही मशीनरी स्थापित की। पंजाब (रोपड़) के राजगढ़ में 21 करोड़ से लगने वाले ऐसे ही एक अन्य प्रोजेक्ट की एवज में रिसोर्स फूड प्राइवेट लिमिटेड फर्म ने भी करोड़ों का गोलमाल किया था। बता दें कि सीबीआई ने दोनों फर्मों के खिलाफ शिमला थाने में मामले दर्ज किए थे।

सीबीआई ने अपने चालान में हिलक्रेस्ट फूड्स के प्रवीण दीवान, महिला पाली दीवान, एस रावत उर्फ आलम सिंह रावत, एसएल बोर्डिया उर्फ संत लाल बोर्दिया, आरएस धर्म और विक्रम सिंह के नाम शामिल किए हैं। सीबीआई ने फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक लोरेस पेरिस, प्रवीण्र दीवान, ज्योति, जसविंदर परमार, पूजा अग्रवाल, राम स्वरूप शर्मा और विक्रम सिंह के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। इस पर 31 अगस्त को सुनवाई होनी है।