सिरमौर: बैंकिंग शाखा चलाने वाली कंपनी करोडों रुपए की धोखाधड़ी करके फरार

पांवटा साहिब (सिरमौर): पांवटा साहिब में एक बैंकिंग शाखा चलाने वाली कंपनी करोडों रुपए की धोखाधड़ी करके फरार हो गई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार अनुदीप कुमार पुत्र मदन सिंह निवासी गांव खाबड़ा डा. बिरला ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि इसकी मुलाकात प्राइड निधि लिमिटेड कंपनी पांवटा साहिब में सीमा बेगम, रईस खान व शाकीर हुसैन से वर्ष 2019 में हुई थी।

बद्रीपुर चावला बिल्डिंग पांवटा साहिब में भी बैंकिंग शाखा चला रहे थे। जिन्होंने इन दोनों को फिक्स डिपोजिट खाते व और डिडि खाते खोलने की स्कीम बतलाई। इसके बाद यह श्प्राइड निधि लिमिटेड कंपनी में बतौर एजेंट कार्य करने लग गए तथा उन्होंने भी कंपनी में अपने खाते खुलवाए। कंपनी ने यहां के बहुत से लोगों के फिक्स डिपोजिट खाते व और डिडि खाते माध्यम से स्कीम देकर लोगों के पैसे अपने खातों में डिपोजिट करवाए।

जब लोगों के खातों की मैच्योरिटी हुई, तो उन्होने पैसा देने मे देरी की तथा बाद में कंपनी ने सभी खाताधारकों को चैक द्वारा पैमेंट करने का आशवासन दिया। शिकायतकर्ता ने बताया कि खाते मैच्योर होने के लगभग छह महीने बाद कंपनी ने लोगों को चैक दिए, लेकिन जब सभी लोगों ने खाते से पैसे निकालने के लिए बैंक मे चैक लगाए तो सभी चैक बाउंस हो गए, क्योंकि किसी भी खाता में कोई पैसा नहीं था, जिसके बाद सभी खाताधारक प्राइड निधि लिमिटेड की ब्रांच ऑफिस पांवटा साहिब गए तो ऑफिस बंद पाया गया।

जब प्राइड निधि लिमिटेड कंपनी के मालिक सीमा बेगमए रईस खान व शाकीर हुसैन को इनके पैसे देने बारे फोन किया गया तो उन्होंने पैसा देने से साफ इनकार कर दिया। इन लोगों ने पब्लिक का पैसा गबन कर व कंपनी को बंद कर भागकर लोगों के साथ धोखाधड़ी की है। बताया जा रहा है कि इस कंपनी ने जिला में कई जगह पर बैंकिंग शाखाएं चलाई हुई है, जिससे यह धोखाधड़ी का मामला करोडों रूपये तक पहुंच सकता है। उधर, पांवटा साहिब के डीएसपी बीर बहादुर ने बताया कि एक कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत मिली है, जिसके बाद मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।