सिरमौर जिला परिषद पर कांग्रेस का कब्जा तय , भाजपा को लगा झटका

नाहन: सिरमौर जिला परिषद (Simour Jila Parishad) पर कब्जा पाने के लिए कांग्रेस को निर्दलीय उम्मीदवार नीलम शर्मा का साथ मिल गया है. नीलम शर्मा के साथ आते ही कांग्रेस यहां बहुमत में आ गई. बहुमत के लिए जिला परिषद में 9 का आंकड़ा जुटाना जरूरी था और नीलम शर्मा की कांग्रेस (Congress) खेमे में एंट्री के बाद अब कांग्रेस समर्थित जिला परिषद सदस्यों की संख्या 9 हो गई. दरअसल, शुरु से ही कयास लगाए जा रहे थे कि निर्दलीय उम्मीदवार नीलम शर्मा (Neelam Sharma) कांग्रेस को ही समर्थन करेंगी.

मंगलवार देर शाम यह बात उस समय पुख्ता हो गई, जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हर्षवर्धन चौहान सहित अन्य कई नेताओं ने जिला परिषद सदस्य और निर्दलीय उम्मीदवार नीलम शर्मा के साथ वाली तस्वीरें साझा की. बताया जा रहा है कि मंगलवार को एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के घर पर निर्दलीय उम्मीदवार नीलम शर्मा सहित कांग्रेस समर्थित सभी जिला परिषद सदस्यों को इकट्ठा किया गया था. बता दें कि भाजपा (‌BJP) और कांग्रेस के पास 8-8 सीटें हैं.

30 जनवरी को जिला परिषद सदस्य की शपथ
कांग्रेस ने समर्थन जुटाने के बाद सभी जिला परिषद सदस्यों को भूमिगत कर दिया है. खबर यह भी है कि इन सभी को राज्य से बाहर ऐसे स्थान पर भेजा गया है, जहां किसी से भी इनका संपर्क ना हो सके. आगामी 30 जनवरी को जिला परिषद सदस्य के लिए शपथ का दिन तय किया गया है.
नीलम शर्मा का चैयरमेन बनना तय

जिला के बाद बाग पशोग वार्ड से बतौर निर्दलीय उम्मीदवार जीत कर आई नीलम शर्मा, जो कांग्रेसी खेमे में शामिल हुई है, उनका चेयरमैन बनना लगभग तय है’ क्योंकि कांग्रेस के पास जितने भी जिला परिषद सदस्य हैं, उनमें कोई भी ओबीसी महिला नहीं है, जबकि जिला परिषद चेयरमैन का पद ओबीसी महिला के लिए आरक्षित है. नीलम शर्मा ओबीसी कैटेगिरी से ताल्लुक रखती हैं.