सिरमौर: कोरोना काल में भी जारी रहा सड़कों और पुलों का निर्माण कार्य

नाहन :  हिमाचल प्रदेश सरकार लोगों को बेहतर सड़क सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कृत संकल्प है तथा सडके संचार तथा परिवहन का प्रमुख माध्यम होने के नाते प्रदेश की भाग्य रेखाएं भी हैं।
जिला सिरमौर की सभी 259 ग्राम पंचायतों को सड़क सुविधा से जोड़ा जा चुका है। जिला में कुल 3170 कि.मी. लम्बी सड़के हैं जिनमें 1885 कि.मी. पक्की जबकि 1285 कि.मी. कच्ची सडके है।
9 करोड़ की लागत से मझाड़ा नदी पर पुल बनकर हुआ तैयार  
कोरोना महामारी के दौरान भी जिला में लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़क पुल तथा भवनों का निर्माण कार्य प्रगति पर है तथा इसी दौरान सैनवाला-कौलावाला भूड सड़क की मझाड़ा नदी पर 9 करोड़ की लागत से पुल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है, जिसका शीघ्र ही लोकार्पण किया जाएगा। इस पुल के बनने से इस क्षेत्र के लगभग 10 हजार से अधिक आबादी को आल वैदर यातायात सुविधा उपलब्ध होने के अतिरिक्त किसानों को अपनी नकदी फसले मंण्डीयों तक लाने की सुविधा उपलब्ध होगी।
     कोरोना काल की दुसरी लहर के दौरान नाहन विधानसभा क्षेत्र में पंचवर्षीय सड़क मुरम्मत योजना के तहत 90 लाख रूपए व्यय कर झामिरिया-रामाधौण-धगेड़ा मार्ग पर सेरटा से धौ-घाट धौण तक 9 किलोमीटर सड़क का पुनः पक्का करने का कार्य किया गया जिससे इस क्षेत्र की लगभग 8 पंचायतो के लोगों को बेहतर आवागमन की सुविधा उपलब्ध होगी।
  कोरोना काल के दौरान ही बनोग-सुरला-कौलावाला भूड सड़क पर सुरला से कौलावाला भूड 8 कि.मी लम्बी सड़क को पक्का किया गया जिस पर 80 लाख रुपए व्यय किए गए।