प्रदेश में बेरोजगारी दिनप्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हैं जिसका सरकार के पास कोई हल नहीं : मुसाफिर

सराहां: प्रदेश में जहां बेरोजगारी ओर मॅहगाई बढ़ी है वही अब भ्रष्टाचार भी चरम सीमा पर है और प्रदेश सरकार आंखे मूंद कर बैठी है यह बात पूर्व विधानसभा अध्यक्ष जी आर मुसाफिर ने प्रेस को दिए अपने बयान में कही
मुसाफिर ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी दिनप्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हैं जिसका सरकार के पास कोई हल नजर नही आ रहा है वही मॅहगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ कर रख दी है मॅहगाई को काबू करने में भी प्रदेश सरकार विफल रही हैं जनता बेहाल है और सरकार अपनी ऐशोआराम में मस्त है .

वही प्रदेश में अब भ्रष्टाचार भी चरम सीमा में पहुंच गया है जहां वन माफिया, खनन माफिया प्रदेश में सक्रिय हैं वही अब कुछ अधिकारी भी इसमें शामिल हो गए हैं इसका उदाहरण स्वयं उनके विधायक पम्मी जी ने दिया है जिनका सोशल मीडिया में वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे वो खुद बोल रहे कि एक अधिकारी खूब माल पानी इक्क्ठा करके चला गया हैं अब इससे ये साबित होता है कि सरकार की आँखों के नीचे भ्रष्टाचार हो रहा है और सरकार आंखे मूंद कर बैठी है
उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने मेनोफेस्टो में कहा था कि वो भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेन्स रखेगी परंतु उनकी कथनी और करनी में अंतर साफ नजर आ रहा यहां सबका साथ सबका विकास का नारा भी खोखला साबित हो रहा है क्यूंकि कुछ चंद लोगो को सरकार फायदा पहुंचा रही है.

उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री जी से इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हैं मुख्यमंत्री जी अपने विधायक की बातों को आधार मानकर इस मामले में सरकार की स्तिथि स्पष्ट करें नही तो यही समझा जाएगा कि यह सब सरकार की मिलीभगत से हो रहा है और सरकार भी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं क्योंकि कोरोनाकाल में भी पीपीई किट घोटाले जैसे कई मामले सामने आए थे जिसमें उस समय के प्रदेशाध्यक्ष को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था