सराहां: बीआरसीसी कार्यालय द्वारा उच्च प्राथमिक विद्यालयों की 37 नवगठित एसएमसी कार्यकारिणी के सदस्यों को प्रशिक्षण किया प्रदान

सराहां:  बीआरसीसी कार्यालय सराहां द्वारा उच्च प्राथमिक विद्यालयों की 37 नवगठित एसएमसी कार्यकारिणी के सदस्यों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस प्रशिक्षण शिविर में नवगठित कार्यकारिणी को कार्यकारिणी के गठन उद्देश्य कर्तव्य व अधिकार से अवगत करवाया गया।

जानकारी देते हुए बीआरसी मनीष जिंदल ने बताया कि इस प्रशिक्षण शिविर का मुख्य उद्देश्य एसएमसी व विद्यालय के बीच शैक्षणिक व गैर शैक्षणिक होने वाले कार्यों के बीच सामंजस्य स्थापित करना था। इस प्रशिक्षण शिविर में न्यू एजुकेशन पॉलिसी व एसएमसी के सभी पहलुओं पर प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस कार्यशाला में विभाग की ओर से समय-समय पर दी जाने वाली ग्रांट्स की भी चर्चा कर गई। इन ग्रांट्स को शैक्षिक व गैर शैक्षणिक स्तर पर कैसे सदुपयोग किया जाए इसकी भी विस्तार से चर्चा करी गई।

करोना काल के बाद सभी विद्यालय बच्चों को ऑनलाइन एजुकेशन प्रदान कर रहे हैं जिसके लिए एसएमसी से सहयोग की अपेक्षा की गई ताकि विद्यार्थियों को घर पर ऑनलाइन के माध्यम से एजुकेशन प्रदान की जा सके। विभाग के द्वारा बहुत से ऑनलाइन कोर्सेज चलाए जा रहे हैं ताकि विद्यार्थी उसका लाभ उठा सकें व विद्यालय की कमी को दूर किया जा सके के भरसक प्रयत्न किए जा रहे हैं। ऑनलाइन के माध्यम से ही क्विज सेमिनार वर्कशॉप गोष्ठियों आयोजित की जा रही हैं । इससे पूर्व 2 फेस में 74 प्राथमिक विद्यालय की नवगठित एसएससी कार्यकारिणी को प्रशिक्षित किया गया। नवगठित कार्यकारिणी को वोकेशनल एजुकेशन, इंक्लूसिव एजुकेशन ,प्री प्राइमरी एजुकेशन, व ऑनलाइन एजुकेशन के बारे में बताया गया। पिछले डेढ़ साल में करोना कॉल के कारण सभी विद्यालय तकरीबन बंद है जिसके कारण सरकार सभी बच्चों को ऑनलाइन शिक्षण प्रदान कर रही है।

iसभी अभिभावकों व एसएमसी कार्यकारिणी से अनुरोध किया गया कि वह घर पर ऑनलाइन शिक्षण के लिए बच्चों की सहभागिता सुनिश्चित करें ताकि वे घर पर ही ऑनलाइन के माध्यम से शिक्षा प्राप्त कर सकें। इस प्रशिक्षण शिविर में श्री रूपेंद्र अत्रि व श्री शिशुपाल भारद्वाज ने नवगठित कार्यकारिणी को प्रशिक्षित किया। प्रशिक्षण शिविर में बी ई ओ राजेश शर्मा व कार्यवाहक प्रिंसिपल एवं बीपीओ सुभाष शर्मा विशेष रूप से उपस्थित रहे।