सभी अधिकारी अपने घरों और कार्यालयों से करें स्वच्छता की शुरूआत : उपायुक्त

नाहन :  उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम ने जिला के सभी अधिकारियों को अपने घरों और कार्यालयों में सम्पूर्ण स्वच्छता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं जिसके तहत उन्हें अपने घरों और कार्यालयों में गीला और सूखा कूड़ा अलग-अलग एकत्र करके रखना होगा। उन्होंने नगर परिषद और नगर पंचायत को सभी कार्यालयों से रोज कूड़ा उठाना सुनिश्चित करने को कहा। उपायुक्त स्वच्छ हिमाचल अभियान 2021 के तहत जिला में 9 से 15 अगस्त तक आयोजित स्वच्छता सप्ताह की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि अभी भी लोगों की सहभागिता इस अभियान में अपेक्षाकृत कम है जिस वजह से सफाई का लक्ष्य अभी पूरी तरह से हासिल नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि यह स्वच्छता अभियान आगे भी जारी रहेगा इसलिए सामुदायिक भागीदारी से अधिक से अधिक लोगों को इस अभियान में जोड़ा जाए। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि जिला के सभी विकास खण्डों में अधिकारी संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर एकत्र होने वाले कूड़े का सही तरीके से निष्पादन करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारीयों को निर्देश देते हुए कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थापित कुडे़दानों की सफाई समय-समय पर की जानी चाहिए। इसके अतिरिक्त, राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित रेस्टोरेंट व ढ़ाबों, जो आस-पास गंदगी फैलाते हैं, उन्हें स्वच्छता अभियान में जोडा जाए और उनके सहयोग से पहाड़ियों तथा ढ़लानों पर पड़े कुडे की सफाई करवाई जाए।
उपायुक्त ने नगर पंचायत राजगढ को नगर परिषद की तर्ज पर डोर-टू-डोर शत प्रतिशत कुडा एकत्र करने के निर्देश दिए।
बैठक के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त सोनाक्षी सिंह तोमर ने सभी अधिकारीयों को स्वच्छता सप्ताह के दौरान कि गई गतिविधियों से अवगत करवाने को कहा।

बैठक में बताया गया कि स्वच्छता सप्ताह के दौरान लोगों को स्वच्छता की शपथ दिलाई गई और महिला मण्डल, युवक मण्डल, नेहरू युवा केन्द्र आदि के सहयोग से गलियों, सड़कों, पानी के टैंक, प्राकृतिक जल स्तोत्र की सफाई की गई और इस दौरान भारी मात्रा में प्लास्टिक एकत्र किया गया जिससे पॉलिब्रिक बनाई गई और गंदे प्लास्टिक को बेलींग के लिए भेजा गया ताकि उसे इंधन के रूप में सीमेंट फैकटरी में इस्तेमाल किया जा सके। बैठक में सहायक आयुक्त डॉ प्रियंका चंद्रा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।