सत्ता में वापसी के लिए यूपी के फार्मूले को कांग्रेस हिमाचल प्रदेश में कर सकती है लागू

सत्ता में वापसी के लिए यूपी के फार्मूले को कांग्रेस हिमाचल प्रदेश में लागू कर सकती है। अगर यह प्रयोग उत्तर प्रदेश में सफल रहता है तो समान चुनावी वर्ष में इसे हिमाचल में भी आजमाया जा सकता है। उत्तर प्रदेश में चुनाव संपन्न होने के  छह महीने बाद हिमाचल में भी चुनावी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। यहां अक्तूबर 2022 के बाद चुनाव होंगे। दिसंबर तक नई सरकार शपथ लेगी।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने हिमाचल प्रदेश के कांग्रेसियों को भी उत्तर प्रदेश में 40 फीसदी टिकट देने के एलान के बाद चौंका दिया। विशेषकर यहां कांग्रेस से जुड़ी महिलाओं में विशेष उत्साह देखा गया। उनकी ओर से भी सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आती रहीं। राजनीतिक विश्लेषकों की भी एक राय है कि इस ऐलान का असर हिमाचल में भी हो सकता है।

40 फीसदी नहीं तो उससे कम महिलाओं को यहां टिकट देने में तवज्जो दी जा सकती है। प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ यहां भी इस अस्त्र का प्रयोग हो सकता है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता नरेश चौहान ने कहा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हमेशा महिलाओं को तरजीह देने की बात की है। महिलाओं को ज्यादा संख्या में टिकट दिलाने में सोनिया गांधी हमेशा फ्रंटलाइन में रही हैं।

अब प्रियंका गांधी ने जिस तरह का फैसला लिया है, यह अच्छा है। उन्होंने कहा कि अभी यह हाईकमान का पूरे देश के लिए फैसला नहीं है। हिमाचल में भी आने वाले वक्त में अधिक से अधिक महिलाओं को टिकट देने का प्रयास रहेगा।