सख्ती न दिखाते, तो हालात और खराब होेते, डीजीपी कुंडू बोले, मास्क न पहनने पर किए दो करोड़ के चालान

प्रदेश में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में प्रदेश पुलिस का अहम रोल है। पुलिस ने समय पर सख्ती न दिखाई होती, तो आज स्थिति कुछ अलग होगी। यह बात डीजीपी हिमाचल प्रदेश पुलिस संजय कुंडू ने शुक्रवार को अपने एकदिवसीय कसौली दौरे के दौरान कही। उन्होंने कहा कि पुलिस ने अब तक करीब दो करोड़ रुपए के चालान ऐसे लोगों के किए हैं, जो बिना मास्क के ही बाजारों में घूमते हुए पाए गए। उन्होंने कहा कि शादी-विवाह जैसे समारोह पर भी पुलिस की पैनी नजर रही और भीड़ को एकत्र नहीं होने दिया। डीजीपी ने कहा कि कोरोना काल के दौरान जितना काम हिमाचल पुलिस ने किया है उतना काम किसी अन्य राज्य की पुलिस ने नहीं किया होगा। अपने दौरे के दौरान उन्होंने कसौली एवं धर्मपुर के पुलिस थाना का निरीक्षण किया और वहां की कार्यप्रणाली को देखा।

डीजीपी ने सोलन पुलिस की पीठ थपथपाते हुए कहा कि यहां पर अच्छा कार्य हो रहा है और साथ में उन्होंने पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को उचित दिशा-निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि न्यू ईयर के जश्न को लेकर पुलिस तैयार है। डीजीपी ने कहा कि प्रदेश में क्राइम रेट काफी कम हुआ है। सड़क हादसों में भी कमी आई है। इसके लिए हिमाचल पुलिस का हर सिपाही बधाई का पात्र है। इस दौरान एसपी सोलन अभिषेक यादव, एएसपी अशोक वर्मा और डीएसपी योगेश रोल्टा मौजूद रहे। गौर रहे कि क्रिसमस एवं न्यू ईयर पर कसौली में काफी लोगों की भीड़ रहती है और लगभग सभी होटल पैक रहते है। ऐसे में पुलिस ने कमर कसी हुई है। पुलिस इस बात पर नजर बनाए हुए है कि कहीं पर भी भीड़ एकत्र न हो और प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों पर अंकुश लगाया जा सके।