शोधयात्रा में 30 विद्यार्थियों ने या भाग, 4 विदेशी विद्यार्थी भी शामिल

न्यूली (कुल्लु): आईआईएम अहमदाबाद,के छात्र छात्राओं का एक दल विश्व ध्रोहर ग्रेट हिमालय नेशनल पार्क क्षेत्र के शांगड़ ,लपाह, मझान , मैल , शेशर व रोपा वन थाने में शोध कार्य कर स्थानीय लोगों से फिड बैक लिया । हनीबी नेटवर्क, नॉट ऑन मेप, सहारा संस्था ने मिलकर एक सप्ताह की शोधयात्रा का आयोजन किया है। शोधयात्रा में 30 विद्यार्थियों ने भाग लिया इस यात्रा में 4 विदेशी विद्यार्थी भी शामिल हुए।

यात्रा के दौरान प्रो.अनिल गुप्ता प्रो.नवदीप माथुर चलते चलते काफी चर्चा करेंगे और साथ मे हर रोज उनकी क्लास भी होगी और रात को चर्चा करेंगे आज हमने क्या सीखा
शोधयात्रा के के में स्थानिक संशोधक महिला दादा दादी से अपने जीवन में जो आविष्कार किया है। या अपने जीवन के संघर्ष के बारेमे समजेगे और उत्कृष्ट संशोधक का सन्मान करेंगे

सभी स्कूलों में जायेगे और उन बच्चों को मिलकर उनमे उत्सुकता बढ़ाएंगे बच्चो के साथ नवीन विचारों की प्रतयोगिता करेगे उसमे अच्छे विचार देने वाले बच्चो का सन्मान करेंगे। और उनके विचारों को आगे बढ़ानेका काम करेंगे।

जिन स्कूलों में जायेगे उन स्कूलों में आईआईएम के विद्यार्थियों ने जो यहाँ के बच्चों के लिए ऑडियो वीडियो कंटेन्ट इकठा किया है उनको देगे जिसे बच्चे अच्छे से पढ़ पाए साथ साथ ग्लोब,साइन्स ,मेप भी स्कूलों में पहोंचा ने का काम करेंगे
यह यात्रा इतने गांव में से जाएगी मेप दिखाए गए सभी गांव में हम पेडल चलकर जाने वाले है।

यह शोधयात्रा के दोरात प्रो.अनिल गुप्ता सभी स्कूलों में बच्चों को मोटिवेट करेंगे और यहाँ के अध्यापक को भी उनसे प्रेरना मिलेगी। उन्होंने सीसे स्कूल शेशर में अध्यापकों से कहा कि बच्चों से लिखित सुझाव ले तथा नई खोज करबाकर उनकी प्रतिभा को उभारे। जो भी विद्यार्थी नई खोज के साथ आगे आएगा उन्हें राष्ट्रपति सम्मान की सिफारिश की जा सकती है। शोध कार्य सप्ताह का समापन समारोह रोपा वन थाना में मनाया गया। जिसमें जिलापरिषद सदस्य हितेश्वर सिंह मुख्य अतिथि रहे। मुख्य अतिथि ने कहा कि शोधकर्ताओं को कार्य करने में हो रही समस्याओं को सरकार तक पहुचाया जाएगा। इस अवसर पर शायना ठाकुर की टीम ने पहाड़ी गीत व नाटी से सबका मनोरंजन करवाया।