शिमला : थमा दिए पानी के लाखो के बिल, भारी भरकम बिलों से उपभोक्ता परेशान

शिमला जल प्रबंधन निगम के खिलाफ पार्षदों ने मोर्चा खोल दिया है। जल प्रबंधन निगम की ओर से जारी किए जा रहे भारी भरकम बिलों से उपभोक्ता परेशान हैं। पार्षद आरती चौहान ने कहा कि इंजन घर में एक उपभोक्ता को 60 हजार और कसुम्पटी में एक उपभोक्ता को दो साल का एक लाख रुपये बिल जारी कर दिया है।
इंजन घर वार्ड से नगर निगम की भाजपा पार्षद आरती चौहान ने कहा कि कंपनी की ओर से जारी मनमाने बिलों से लोगों में हाहाकार मचा हुआ है। कंपनी की मनमानी पर नगर निगम का कोई नियंत्रण नहीं है। विरोध स्वरूप अगले हाउस का बहिष्कार किया जाएगा। मशोबरा वार्ड से भाजपा पार्षद शैलेंद्र चौहान ने कहा कि मर्ज एरिया वार्ड में जहां सीवरेज कनेक्टिविटी नहीं है वहां भी लोगों को सीवरेज सेस जोड़कर बिल जारी कर दिए हैं।

लोगों को 25-25 हजार के बिल जारी कर दिए हैं। मीटर रीडिंग के बिना ऐवरेज बिल जारी किए जा रहे हैं। कसुम्पटी वार्ड के पार्षद राकेश चौहान ने बताया कि वार्ड में एक व्यक्ति को दो साल का एकमुश्त एक लाख रुपये बिल दिया है। वार्ड में अधिकतर लोगों को एक साल से पानी के बिल नहीं दिए गए हैं। जल निगम के अफसर कहते हैं कि मीटर रीडिंग करने वाली कंपनी भाग गई है।