शिमला: खालिस्तानी धमकी के बाद प्रदेश के 4 बड़े नेताओं की सुरक्षा बढ़ी

शिमला: हिमाचल पुलिस ने खालिस्तानी धमकी के बाद प्रदेश के 4 बड़े नेताओं की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला लिया गया है. प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jai Ram Thakur) को जेड प्लस सुरक्षा (Z Plus Security) मिलेगी. वहीं राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ अर्लेकर,केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को भी जेड प्लस सुरक्षा मिलेगी. अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को अब वाई सुरक्षा की जगह जेड प्लस सुरक्षा मिलेगी.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के न्यूकैसल के एक नंबर से सूबे के पत्रकारों को एक ऑडियो संदेश भेजा गया था. इसमें कहा गया कि हिमाचल पंजाब का हिस्सा था. ऐसे में सीएम जयराम ठाकुर को 15 अगस्त को तिरंगा फहराने नहीं दिया जाएगा. अब मामले की जांच सीआईडी को सौंपी गई है. हिमाचल पुलिस ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि मामले की जांच सीआईडी के साइबर सैल को सौंपी गई है.

वहीं, सूबे के राज्यपाल, सीएम जयराम ठाकुर, जेपी नड्डा, अनुराग ठाकुर की सुरक्षा में इजाफा किया गया है. वहीं, पंद्रह अगस्त से पहले सूबे में प्रवेश कर रहे वाहनों की चैकिंग की जाएगी. साथ ही केंद्रीय एजेंसियों के साथ भी मामले की जानकारी साझा की गई है. स्वतंत्रता दिवस को लेकर अतिरिक्त सुरक्षा कर्मी तैनात किए जाएंगे. सुरक्षा और कानून-व्यवस्था कायम रखने के लिए कड़े उपाय किए हैं.

सीएम जयराम ठाकुर ने कही थी ये बात

मुख्यमंत्री CM जयराम ठाकुर ने कहा कि उन्हें हालांकि इस बारे में पूर्ण जानकारी नहीं है, लेकिन अगर फिर भी किसी ने उन्हे 15 अगस्त के मौके पर तिरंगा झंडा न फहराने की धमकी भरा ऑडियो मैसेज वायरल किया है. मामले की पड़ताल जांच एजेंसियों से बात कर मैसेज भेजने वालों का पता लगाया जाएगा. वहीं, उन्होंने कहा कि जहां कार्यक्रम होगा, वहां झंडा फहराएँगे. इसके साथ ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाइवे-21 पर वाहनों पर खालिस्तानी संगठनों के झंडे लगाकर चल रहे बाहरी राज्यों के वाहनों पर भी चिंता व्यक्त की है. मुख्यमंत्री ने इस प्रकार के मामलों को गंभीरता से लेते हुए गहनता से जांच किए जाने के आदेश भी दिए गए.