शिक्षा विभाग में एक अगस्त से लेकर 13 अगस्त तक अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टियों पर रोक

0
2

विधानसभा के 15वें सत्र (मानसून सत्र) के चलते शिक्षा विभाग में एक अगस्त से लेकर 13 अगस्त तक अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टियों पर रोक लगा दी गई है। दस अगस्त से शुरू होने वाले मानसून सत्र के चलते उच्च और प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने मंगलवार को को प्रस्तावित छुट्टियों और टूअर पर रोक लगाने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

विभागीय आदेशों में अधिकारियों और कर्मचारियों को मानसून सत्र के चलते रविवार सहित अन्य छुट्टियों के दौरान भी बुलाया जा सकता है। सुबह 8:00 से रात 8:00 बजे तक अफसरों को दफ्तर में मौजूद रहना होगा। विभाग ने विधानसभा में शिक्षा विभाग से संबंधित लगे सभी प्रश्नों के जवाब जल्द देने को भी कहा है।

शिक्षा निदेशालय ने सभी संबंधित अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान विभाग से संबंधित सभी प्रश्नों के जवाब तैयार होने चाहिए। अधिकारियों के पास हर तरह की जानकारी होनी चाहिए। कहा गया है कि विभाग की हर शाखा में कम से कम एक अधिकारी इस दौरान रोजाना सुबह 8:30 बजे ऑफिस में होना चाहिए। रात को आठ बजे तक अफसरों को दफ्तर में मौजूद रहने होगा।

इनकी छुट्टियां हुई हैं रद्द

अतिरिक्त निदेशक प्रशासन, कालेज, स्कूल उच्च शिक्षा, संयुक्त निदेशक कालेज, संयुक्त निदेशक फाइनेंस एंड अकाउंट, सह निदेशक, उच्च शिक्षा के सभी उपनिदेशक, सभी सरकारी कालेजों के प्रिंसिपल, कमांडर एनसीसी और चीफ लाइब्ररेरियन सेंट्रल स्टेट लाइब्रेरी सोलन, प्रारंभिक शिक्षा के सभी उपनिदेशक, प्रिंसिपल डाइट की छुट्टियां रद्द  करने के आदेश दिए गए  हैं। इन अधिकारियों के तहत काम करने वाले स्टाफ को भी छुट्टियां नहीं मिलेंगी।

यह जानकारियां भी मांगी गई हैं

विभाग में विभिन्न श्रेणी के कर्मचारियों के कितने पद सृजित हैं, कितने पद रिक्त हैं। कितने पद भरे गए हैं। निदेशालय के अधिकारियों ने कितने स्कूलों, कालेजों का निरीक्षण किया। कितने नए स्कूल, कॉलेज खोले गए।