शारद पूर्णिमा : सराहां सहित पूरे उपमंडल पच्छाद में भक्ति मय माहौल से मनाया गई

शारद पूर्णिमा के शुभ अवसर पर सराहां सहित पूरे उपमंडल पच्छाद में भक्ति मय माहौल रहा।इस अवसर पर लोगो ने व्रत रख कर माँ लक्ष्मी ,शिव,पार्वती व कार्तिकेय की पूजा अर्चना के साथ साथ वासुदेव कृष्ण व तुलसी माता का भी पूजन किया।वही पच्छाद के ग्रामीण इलाकों में गरौणे का त्यौहार भी धूमधाम से मनाया गया।

इस अवसर पर ग्रामीणों ने अपने पशुशाला के सामने लिपाई करके गोबर के छोटे छोटे पुतले बनाए जिन्हें स्थानीय भाषा मे ग्रोणीय कहते है और शक्कर ,माह की दाल व दही चावल से उनकी पूजा अर्चना की इसके उपरांत उन्होंने अपने पालतू पशुओं को विशेष कर गौ माता व गौ वंश की पूजा अर्चना की व उन्हें फूल माला पहना कर विशेष चारा खिलाया।इस दौरान परम्परा को निभाते हुए जब ग्वाले अपने पशुओं को चराने ले जा रहे थे तो रास्ते मे अन्य ग्रामीणों ने उन पर हल्की फुल्की छड़ी भी चलाई।ऐसी मान्यता है कि इस दिन ग्वालो पर छड़ी चलाने का रिवाज़ है जो इस बात का प्रतीक है कि यदि जाने अनजाने में पूरे वर्ष ग्वालो द्वारा अपने पशु धन पर किसी भी कारण वंश छड़ी का उपयोग किया गया तो इस प्रकार से वो इसका प्रायश्चित करते है।इसी तरह शहरी इलाकों में गढबढे का भी पूजन किया गया।