विधानसभा के शीतकालीन सत्र : पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने की मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से फोन पर बात

विधानसभा के शीतकालीन सत्र का आयोजन करवाया जाए या नहीं। करवाया जाए, तो कहां, इसे लेकर राजनीतिक माहौल गरमाया हुआ है। शुक्रवार को इस मसले पर सर्वदलीय बैठक भी हुई, जिसमें भी नतीजा नहीं निकला। कांग्रेस के विधायकों की कुछ अलग राय है, मगर विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने सत्र करवाए जाने को कहा है। हालांकि उन्होंने भी यही कहा था कि सत्र सरकार चाहे, तो कहीं पर भी करवाएं, मगर करवाएं।
अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्रील वीरभद्र सिंह ने भी इस मामले पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से फोन पर बात की है। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को शिमला में विधानसभा का शीतकालीन सत्र करवाए जाने की सलाह दी है और आग्रह भी किया है। खुद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इसका खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को वीरभद्र सिंह का फोन भी आया है, जिन्होंने व्यक्तिगत रूप से यह आग्रह किया है कि शीतकालीन सत्र को शिमला में करवाया जाए। अभी सरकार इस पर विचार कर रही है, क्योंकि अभी संवैधानिक बाध्यता भी नहीं है। एक रिवायत चल रही है, जिसे पूरा किया जाना है, जिस पर अभी दो दिन के बाद सरकार फैसला लेगी।