विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी में दुकानदार प्रशासन के फैसले से नाखुश

हिमाचल प्रदेश के विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी में रविवार के दिन जहां पर श्रद्धालुओं की संख्या अधिक है वहीं पर दुकाने आज भी बंद है जिसके चलते दुकानदार व्यापारी वर्ग सरकार और प्रशासन के इस फैसले से पूरी तरह से नाखुश नजर आ रहे है। जबकि श्रद्धालुओं को भी प्रशाद चुनरी और अन्य सामान लेने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि पूरे सप्ताह में सिर्फ रविवार छुट्टी के दिन ही इन धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की संख्या अधिक होती है। पूरे सप्ताह में बहुत कम संख्या में श्रद्धालु मां के दरबार में पहुंचते हैं इसलिए सरकार को इन धार्मिक स्थलों के बारे में अलग से विचार करना चाहिए ताकि दुकानदार और व्यापारी परेशान ना हो और उनकी रोजी-रोटी के लाले ना पड़े.
दुकानदारों का कहना है कि पहले ही कोविड-19 महामारी के चलते धार्मिक स्थलों पर दुकानें 6 महीने के लिए बंद रही है और अब अगर थोड़ा बहुत कार्य चला है तो रविवार के दिन जिस दिन अधिक श्रद्धालु होते हैं उस दिन बंद दुकानें बंद करने को सरकार ने कहा है
हालांकि की शहरी क्षेत्र में तो रविवार के दिन आम तौर पर दुकाने बंद ही होती है इसलिए शक्तिपीठों को लेकर सरकार को अलग से प्लान तैयार करना चाहिए