वार-पलटवार: राहुल गांधी बोले-जुलाई आ गया..वैक्सीन नहीं आई, मंत्रियों ने दिया ये जवाब

कोरोना संकट के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी केंद्र पर हमला करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते। हर रोज ट्वीट कर टीका. महामारी, बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर सरकार को घेरते हैं। सरकार की वैक्सीनेशन नीति पर तो वह लगातार हमलावर हैं। शुक्रवार को भी उन्होंने वैक्सीन को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया ‘ जुलाई आ गया..वैक्सीन नहीं आई’। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को जल्द से जल्द बड़ी संख्या में टीकाकरण करना चाहिए, ताकि कम समय में अधिक लोगों को टीका लगे और सुरक्षा मिले। राहुल गांधी के इस ट्वीट के बाद सरकार की ओर से एक के बाद एक बयान आने शुरू हो गए। स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के बाद केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को ओछी राजनीति नहीं करने की नसीहत दी है।

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राहुल गांधी के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा कि वैक्सीन की 12 करोड़ डोज जुलाई महीने में उपलब्ध होंगी जो निजी अस्पतालों की डिमांड से अलग है। राज्यों को 15 दिन पहले ही आपूर्ति के बारे में सूचना दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को समझाने चाहिए कि कोरोना से लड़ाई में गंभीरता के बजाय इस समय ओछी राजनीति का प्रदर्शन उचित नहीं है ।

राहुल गांधी को पार्टी संभालने पर देना चाहिए ध्यान- हर्षवर्धन
राहुल गांधी के वैक्सीन वाले ट्वीट पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पलटवार किया। डॉ. हर्षवर्धन ने ट्वीट किया कि बीते दिन ही मैंने जुलाई के बारे में वैक्सीन के आंकड़े रखे थे, राहुल गांधी की क्या दिक्कत है, क्या वो पढ़ते नहीं हैं। डॉ. हर्षवर्धन ने आगे लिखा कि अहंकार और अज्ञानता की कोई वैक्सीन नहीं है। कांग्रेस को अपने नेतृत्व और पार्टी संभालने पर ध्यान देने की जरूरत है।

दिसंबर तक सभी को लग जाएगा टीका?
दरअसल, सरकार की ओर से एक बयान में कहा गया था कि जल्द ही देश के अधिकांश हिस्सों में टीकाकरण अभियान पूरा हो जाएगा, लेकिन अभी तक देश की कुल आबादी का एक तिहाई हिस्सा ही वैक्सीनेट हो पाया है। जानकारी के मुताबिक, जुलाई महीने में केंद्र की ओर से राज्यों को कुल 12 करोड़ के करीब वैक्सीन दी जाएंगी। देश में अभी तक 35 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है।  केंद्र सरकार ने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि अगस्त से दिसंबर के बीच उसके पास 135 करोड़ से अधिक वैक्सीन उपलब्ध रहेंगी। यानी सरकार का लक्ष्य है कि दिसंबर तक वैक्सीन की पहली खुराक सभी को लग जानी चाहिए।