राज्यपाल ने विनोद भारद्वाज द्वारा लिखित पुस्तक गांधी का किया विमोचन

आजादी के 75 वें वर्ष व भारत छोड़ो आंदोलन की 79 जयंती के अवसर पर देशभर में आयोजित हो रहे अमृत उत्सव की कड़ी में शिमला के ऐतिहासिक गेटी थिएटर में आज प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने संग्रहालय शिमला द्वारा आयोजित राष्ट्रीयता महात्मा गांधी की शिमला प्रभास की चित्र पत्रिका उद्घाटन किया इस प्रदर्शनी में वर्ष 1921 से 1946 के मध्य महात्मा गांधी की देश की ग्रीष्मकालीन राजधानी शिमला प्रभास और उनसे संबंधित ऐतिहासिक घटनाओं को दर्शाया गया है।

राज्यपाल ने इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से सेवानिवृत्त गिरिराज के वरिष्ठ संपादक विनोद भारद्वाज द्वारा लिखित पुस्तक गांधी इन शिमला का विमोचन भी किया। अंग्रेजी में लिखी गई इस पुस्तक का प्रकाशन राज्य संग्रहालय शिमला द्वारा किया गया है और गांधीजी के शिमला प्रवास पर आयोजित प्रदर्शनी भी इसी पुस्तक पर आधारित है 151 पृष्ठों की इस पुस्तक में गांधी जी के दुर्लभ चित्रों और दस्तावेजों की तथ्य पूर्ण एवं ऐतिहासिक जानकारियां संकलित की गई है राज्यपाल ने इस मौके पर कहा कि गांधीजी उनके भी आदर्श रहे हैं और उनके शिमला प्रवास पर आधारित विनोद भारद्वाज की यह ऐतिहासिक पुस्तक नई पीढ़ी और विशेषकर शोधकर्ताओं के लिए उपयोगी साबित होगी।