युवा पीढ़ी को अपनी समृद्ध संस्कृति और लोक परंपराओं से जुड़े रहना जरूरी: मेला राम शर्मा

पंचायत समिति संगड़ाह के अध्यक्ष मेला राम शर्मा ने युवा पीढ़ी से अपनी समृद्ध संस्कृति और लोक परंपराओं से जुड़े रहने का आह्वान किया है। मेला राम शर्मा आज ग्राम पंचायत भवाई के कुफर गांव में बालेश्वर नवयुवक मंडल द्वारा आयोजित वार्षिक मशराली मेले के समापन समारोह की अध्यक्षता करते हुए ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी अपनी लोक संस्कृति और परंपराओं से विमुख हो रही है और यह समाज के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि प्राचीन काल से सिरमौर जिले की सांस्कृतिक चेतना काफी समृद्ध रही है और इसके संवर्धन और संरक्षण के लिए हमें मिलजुल कर प्रयास करना चाहिए। मेलाराम शर्मा ने बालेश्वर नवयुवक मंडल कुफर द्वारा आयोजित पारंपरिक मशराली मेले के आयोजन की सराहना करते हुए कहा की मेले और त्यौहार हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विधाओं और लोक परंपराओं के परिचायक होते हैं। ऐसे आयोजनों से ही हमारी लोक परंपराएं और सांस्कृतिक विधाएं फलती फूलती है।

उन्होंने कहा कि आज युवा पीढ़ी में तेजी से फैल रही नशे की लत से युवाओं का ना केवल भविष्य खराब हो रहा है अपितू युवा वर्ग पथभ्रष्ट हो रहा है। उन्होंने युवाओं से नशे से दूर रहकर अपने उज्जवल भविष्य के निर्माण के लिए पठन-पाठन पर ध्यान देने की आवश्यकता पर बल दिया।
मेलाराम शर्मा ने युवाओं से मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अंतर्गत स्वरोजगार के संसाधन जुटाने का आह्वान किया और कहा युवाओं को सरकारी नौकरी के पीछे ना भागकर अपने पैसे छोटे-छोटे उद्योग धंधे लगाने चाहिए जिससे वह स्वयं के साथ साथ और को भी रोजगार उपलब्ध करा सकें।

उन्होंने इस अवसर पर सिरमौर जिला के प्रसिद्ध बूढ़ा लोक नृत्य दल क्यारी गुंडाह के लोक नृतको की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए कहा की प्राचीनकाल से चली आ रही बूढ़ा लोक नृत्य विधाएं धीरे-धीरे लुप्त प्राय हो रही हैं और जिन लोगों ने इस प्राचीन विधा को जिंदा रखने का प्रयास किया है उनकी अपने संस्कृति के प्रति प्रेम की सोच को सराह जाना चाहिए।