यह बहुत जानलेवा मशरूम की प्रजाति, 12 प्रजातियां जान की दुश्मन

प्रदेश के जंगलों में बरसात के समय एक हजार से भी अधिक मशरूम की प्रजातियां प्राकृतिक रूप से पैदा हो जाती है। इनमें से 12 प्रजातियां तो ऐसी है, जिसका सेवन यदि इनसान कर ले तो उसकी मौत भी हो सकती है। इनमें सबसे प्रमुख एमेनिटा है, जो कि सबसे अधिक विषैली मशरूम में शामिल हैं। यह करीब पूरे प्रदेश के जंगलों में आसानी से मिल जाती है। यह बहुत जानलेवा मशरूम की प्रजाति है। इसके अलावा में जाइरोमित्रा, क्लाइटो साइबी व वरपा कोनोसाइबी आदि मशरूम भी प्रदेश के जंगलों में पैदा होती है, जो कि देखने में सामान्य ही दिखती है। लेकिन इसका सेवन करना मनुष्य को भारी पड़ सकता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि कौन सी मशरूम जहरीली है ओर कौन सी नहीं। इस बारे में केवल रिर्सज सेंटर से ही पता लग सकता है।

आम लोग जंगल में इसकी परख नहीं कर सकते। क्योंकि अधिकतर मशरूम एक जैसी ही देखने में लगती है। डीएमआर के डायरेक्टर डा. वीपी शर्मा ने कहा कि प्रदेश में एक हजार से भी अधिक प्रजातियों की मशरूम पाई जाती है। इसमें 12 प्रजातियां ऐसी है, जिसका सेवन करने से इनसान की मौत भी हो सकती है। बरसात में कई ऐसी मशरूम की प्रजातियां भी उग जाती है, जो कि घातक नहीं होती है और उसका सेवन इनसान कर सकते हैं। इनमें किंग बोलीट, सल्फर शेल्फ जिसे चिकन मशरूम और जंगल के चिकन के रूप में भी जाना जाता है। एपाइन मशरूम, कैंथेरेलस, गुच्छी, सीप मशरूम, पफ्बाल्स और पोलीपोरस सबसे लोकप्रिय प्रकार के मशरूम में से एक हैं।