यह आर्मी का मैदान नहीं राजनीतिक अखाड़ा है: प्रतिभा सिंह

मंडी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह ने शुक्रवार को नामांकन पत्र भरा। शक्ति प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस ने गांधी भवन से उपायुक्त कार्यालय तक रैली निकाली। नामांकन के दौरान शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य, पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर और आशा कुमारी मौजूद रही। इसके बाद सेरी मंच में जनसभा आयोजित की गई। नामांकन के बाद रैली सेरी मंच तक पहुंची।

कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह ने कहा कि हार जीत का फैसला जनता करेगी। माना सेना में रहते हुए ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने अच्छा काम किया है पर राजनीतिक फील्ड में फैसला जनता करेगी। यह आर्मी का मैदान नहीं राजनीतिक अखाड़ा है।

कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने मंडी के ऐतहासिक सेरी मंच पर पहुंचने के लिए सभी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि कभी-कभी ऐसे मौके आते हैं, जिसमें हमें ऐतिहासिक निर्णय लेने होते हैं। यह मौका है। उपचुनाव विधानसभा चुनावों का सेमीफाइनल है। भाजपा का शीर्ष नेतृत्व मुद्दों को भटका रहा है। महंगाई चरम पर है।  जब 200 रुपए लीटर सरसों के तेल का तड़का लगता है, तो आंसू महिलाओं के निकलते हैं। यह चुनाव महिला शक्ति का है।

महंगाई, बेरोजगारी बढ़ रही है। बाहर के राज्य के युवाओं को नौकरियां दी जा रही है। उन्होंने सीएम को घेरते हुए कहा कि मुझे कर्मचारी विरोधी कहा गया, लेकिन मैं कर्मचारी विरोधी नहीं। जितना कर्मचारियों के लिये कांग्रेस ने किया उतना किसी ने नहीं किया। कभी-कभी बंद आंखों और कानों को खोलने के लिए विस्फोट की जरूरत होती है। मंडी में विकास कागजों में हो रहा है। कर्मचारियों और महंगाई के मुद्दे पर चुनाव लड़ेंगे, संसाधनों की कमी के बावजूद चुनाव जीतेंगे।