मेडिकल कॉलेज नाहन में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र की क्षमता 50 से बढ़ाकर की 100 बेड: डा.सैजल

0
2

नाहन:  डॉ यशवंत सिंह परमार राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नाहन में  मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केंद्र की क्षमता को 50 बेड से बढ़ाकर 100 बेड किया जाएगा। यह निर्णय आज यहाँ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डॉ राजीव सैजल की अध्यक्षता में आयोजित डॉ यशवंत सिंह परमार राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नाहन की रोगी कल्याण समिति की बैठक में लिया गया।
बैठक में रोगी कल्याण समिति के कर्मियों की 31 प्रतिशत वेतन वृद्धि तथा डॉ यशवंत सिंह परमार राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नाहन में लगभग 1 करोड 60 लाख रूपये से आवश्यक स्वास्थ्य उपकरणों की खरीद के अतिरिक्त भवन मुरम्मत एवं रख-रखाव का निर्णय लिया गया।
उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास किया है तथा वर्तमान में प्रदेश में 1800 से अधिक चिकित्सक स्वास्थ्य संस्थानों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं जबकि सरकार द्वारा शीघ्र ही 500 से अधिक डॉक्टरों की तैनाती की जायेगी। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं देश के अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है। उन्होने बताया कि हिमाचल प्रदेश जनसंख्या के आधार पर सबसे अधिक मेडिकल कॉलेज वाला राज्य है।

डॉ. सैजल ने बताया कि रोगी कल्याण प्रशासकीय समिति ने वित वर्ष 2022-2023 के लिए 17 करोड़ 44 लाख 96 हजार रूपये का बजट प्रस्तावित किया है, जबकि वित वर्ष 2020-2021 का 6 करोड 72 लाख तथा वित वर्ष 2021-22 के लिए 8 करोड़ 46 लाख रूपये का बजट अनुमोदन किया गया।उन्होंने बताया कि जिला सिरमौर के नाहन में 261 करोड़ रूपये की लागत से बन रहे डा. यशवंत सिंह परमार मेडिकल कॉलेज के भवन का निर्माण कर शीघ्र ही जनता को समर्पित किया जाएगा।

बैठक से पहले स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने विधायक नाहन डा0 राजीव बिंदल व प्रशासनिक अधिकारियों तथा केन्द्रीय लोक निर्माण के अधिकारियों के साथ मेडिकल कॉलेज नाहन के निर्माणाधीन कार्यों का जायजा लेते हुए बताया कि इस मेडिकल कॉलेज के निर्माण में कुल 261 करोड़ रूपये व्यय किए जा रहे है जिसमें प्रशासनिक भवन के साथ 300 बेड की क्षमता वाले भवन का निर्माण किया जा रहा है, जिससे जिला सिरमौर के लोगो को अपने ही जिला के अन्दर स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा उपलब्ध होगी। केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को मेडिकल कॉलेज के निर्माण कार्यों को पारदर्शिता गुणवत्ता एवं समयबद्ध पूरा करने के निर्देश दिए।

इस बैठक में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक नाहन डा0 राजीव बिंदल ने डा. यशवंत सिंह परमार मेडिकल कॉलेज नाहन की मुख्य समस्याओ से स्वास्थ्य मंत्री को अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि कोविड महामारी की दूसरी लहर के दौरान डॉ यशवंत सिंह परमार राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नाहन राहत के रूप में खड़ा रहा और मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं दी। उन्होंने बताया कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने इस मेडिकल कॉलेज में चार कैंसर रोग चिकित्सक नियुक्त किये है और शीघ्र ही यहाँ कैंसर रोगियों का इलाज आरम्भ हो जाएगा।

इस बैठक में निदेशक चिकित्सा शिक्षा डॉ. राकेश पठानिया, प्रधानाचार्य डॉ. यशवंत सिंह परमार मेडिकल कॉलेज नाहन डॉ श्याम कौशिक, चिकित्सा अधीक्षक एवं सदस्य रोगी कल्याण समिति डॉ. बलराम धीमान, सहायक आयुक्त एवं संयुक्त निदेशक डा. यशवंत सिंह परमार मेडिकल कॉलेज नाहन घनश्याम दास शर्मा व मुख्य चिकित्सा अधिकारी अजय पाठक, भाजपा जिला अध्यक्ष विनय गुप्ता के अतिरिक्त समिति के सरकारी व  गैर सरकारी सदस्य भी उपस्थित थे।