मुख्यमंत्री ने मंडी में किए 167 करोड़ के शिलान्यास व उद्घाटन

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेशवासियों की सुविधा के लिए मल (सीवरेज) शुल्क को 25 प्रतिशत कम किया जाएगा। जून, 2005 की अधिसूचना के अनुसार वर्तमान में सीवरेज शुल्क पानी के बिल का 50 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री ने मंडी के सेरी मंच से जनसभा को सम्बोधित करते हुए यह घोषणा की। आज के अपने मंडी दौरे के दौरान मुख्यमंत्री ने 167 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की आधारशीला रखी और उद्घाटन किए।

दो वर्ष का सेवाकाल सुशासन, नवाचार और जनसेवा को समर्पित : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कहा कि दो वर्ष का यह सेवाकाल सुशासन, नवाचार और जनसेवा को समर्पित रहा है। प्रदेश में नई सोच के साथ विकास की नई योजनाएं आरम्भ करने के परिणामस्वरूप विकास के एक नए युग का सूत्रपात हुआ है। इन योजनाओं के प्रभावशाली क्रियान्वयन से प्रदेश में लोगों के जन-जीवन में बदलाव देखने को मिल रहा है। इन दो सालों में प्रदेश की जनता ने हमारी सरकार को भरपूर विश्वास और समर्थन दिया है। भाजपा ने लोक सभा चुनावों में चारों सीटों पर रिकाॅर्ड अंतर से जीत दर्ज की और दोनों उप-चुनाव भी जीते। यह इस बात का प्रमाण है कि प्रदेश के लोगों ने सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों को अपना भरपूर समर्थन दिया है।

जन समस्याओं के समाधन को दी प्राथमिकता
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जन समस्याओं के समाधन को प्राथमिकता दी है। लोगांे की समस्याओं के शीघ्र निपटारे में जनमंच मील पत्थर साबित हुआ है। अभी तक प्रदेश के सभी 68 विधनसभा क्षेत्रों में 171 जनमंच आयोजित किए जा चुके हैं। इनमें 43,271 जन शिकायतें एवं मांगे प्राप्त हुईं जिनमें से 91 प्रतिशत शिकायतों व मांगों का समाधान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि लोगांे की समस्याओं के शीघ्र समाधान की दिशा में सरकार ने एक और कदम आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन-1100 आरम्भ की है। तीन माह के भीतर ही 1.40 लाख काॅल्स प्राप्त हुईं हैं। इनमें 37 हजार 349 शिकायतें मिली और अब तक 30303 का समाधान किया जा चुका है।

3,56,563 वरिष्ठ नागरिकों को दी जा रही 1500 रुपए प्रतिमाह की दर से पैंशन
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 3,56,563 वरिष्ठ नागरिकों को 1500 रुपये प्रतिमाह की दर से पैंशन प्रदान की जा रही है। केन्द्र सरकार की ‘उज्ज्वला योजना’ से प्रदेश के 1,36,000 परिवारों को लाभ प्राप्त हुआ है। हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत अभी तक 2 लाख 62 हजार से अधिक परिवारों को लाभ पहुंचाया गया है। इस योजना के तहत शत-प्रतिशत पात्र लाभार्थियों को निःशुल्क गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीें उठा पा रहे लोगों के लिए प्रदेश सरकार ने हिम केयर योजना आरम्भ की है। अभी तक इस योजना का लाभ 54 हजार 282 रोगियों ने उठाया है, जिस पर 51.33 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

युवाओं को सृजित किए रोजगार के अवसर

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने तथा युवाओं को रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्ज मीट आयोजित की गई, लेकिन खेद की बात है कि इस आयोजन को लेकर विपक्ष अनावश्यक शोर-शराबा कर रहा है, जबकि कांग्रेस शासित राज्यों ने भी इस प्रकार के आयोजन किए हैं। राज्य सरकार ने इस मीट के आयोजन पर बहुत कम धन राशि खर्च की। उन्होंने कहा कि कांगे्रस सरकार के शासनकाल के दौरान ऊना जिला में औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने में अनावश्यक धन राशि खर्च करने पर सीएजी ने भी स्वाल खड़े किए हैं। यही नहीं भूमि की उपलब्धता होने के बावजूद भूमि विकास और मिट्टी ढुलाई के काम पर ही लगभग 45 करोड़ रुपये व्यर्थ में खर्च किए गए।

दुकानों के निर्माण के लिए राज्य सरकार मंडी नगर परिषद को देगी दो करोड़
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दुकानों के निर्माण के लिए मंडी नगर परिषद को दो करोड़ रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने मंडी शहर में शौचालयों के निर्माण के लिए 25 लाख रुपये की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इन्दिरा मार्केट के रखरखाव के लिए सरकार धनराशि उपलब्ध करवाएगी। उन्होंने आंतरिक सड़क के विकास के लिए एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने मंडी में सिन्थैटिक लाॅन टेनिस कोर्ट और मांडव्य नेचर पार्क का उद्घाटन किया। उन्होंने मंडी शहर और मण्डी के समीपवर्ती गावांे को मल निकासी सुविधा प्रदान करने के लिए मल निकासी योजना का शिलान्यास किया जिसे 68.57 करोड़ रुपये की लागत से पूरा किया जाएगा।

82.18 करोड की मंडी शहर पेयजल संवर्धन योजना का लोकार्पण
मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार के कार्यक्रम के अंतर्गत 82.18 करोड़ रुपये की लागत से उहल नदी से मंडी शहर पेयजल संवर्धन योजना का लोकार्पण किया। इस योजना से मंडी के लगभग 47 हजार लोगों को पेयजल सुविधा उपलब्ध होगी। मुख्यमंत्री ने कंगनीधार से डूडर तहसील सदर से उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना की आधारशीला रखी, जिस पर 86.39 लाख रुपये व्यय किए जाएंगे। उन्होंने ईवीएम और वीवीपीएटी के भण्डारण के लिए भ्यूली में एक गोदाम का शिलान्यास किया, जिस पर 7.50 करोड़ रुपये की लागत आएगी। उन्होंने खलियार मंडी में उप-निदेशक कोषागार निरीक्षण सेंट्रल जाॅन मंडी के कार्यालय एवं आवासीय भवन की आधारशीला भी रखी, जिसे 2.92 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित किया जाएगा। उन्होंने खलियार में ही माॅडल करियर सेंटर भवन का शिलान्यास किया जिस पर 2.36 करोड़ रुपये आएगी।
मुख्यमंत्री ने हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत पात्र परिवारों को निःशुल्क गैस सिलैण्डर भी वितरित किए। मुख्यमंत्री ने इसके उपरांत 2 करोड़ रुपये की लागत से मंडी में निर्मित जोगेन्द्र जिमखाना क्लब का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि यह प्रदेश के सबसे पुराने क्लबों में एक है, जो मंडी शहर में विविध आयोजनों के लिए प्रयोग में लाया जा रहा है।