मुख्यमंत्री ने पांवटा साहिब विधानसभा क्षेत्र में 94 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण किया

नाहन: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला सिरमौर के पावंटा साहिब विधानसभा क्षेत्र में 94 करोड़ रुपये की लागत की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए।
मुख्यमंत्री ने 31 करोड़ रुपये की लागत वाली पांच विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण किए, जिनमें नाबार्ड के तहत 19.07 करोड़ रुपये की लागत से रामपुरघाट मानपुर दियोरा सड़क पर गिरि नदी पर 396 मीटर डबल लेन पुल,
6.13 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पांवटा साहिब में पुलिस स्टेशन भवन, पांवटा तहसील में 2.69 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित बधाना कलाथा उठाऊ सिंचाई योजना, 2.50 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पावंटा साहिब बस स्टैंड और ज्वालापुर से लाल टप्पर सड़क पर जम्बू खाला पर 90 लाख रुपये की लागत से निर्मित 61.50 मीटर स्पेन आरसीसी बॉक्स सैल पुल शामिल हैं।
जय राम ठाकुर ने 63 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली 18 परियोजनाओं की आधारशिला रखी, जिनमें 4.85 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली शमशेरपुर से नवाडा वाया हीरपुर मटरालियों रामपुरघाट सम्पर्क मार्ग, 2.09 करोड़ रुपये की लागत से देव का मोर से बोबरी खोदरी सम्पर्क मार्ग को पक्का करने का कार्य, 73 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला नघेटा का भवन, पावंटा साहिब तहसील में किशनकोट, बालीवाला, नरीवाला और गुज्जर बस्ती छल्लूवाला गांव में 63 लाख रुपये की लागत से हर घर नल से जल का कार्य, 1.96 करोड़ रुपये की लागत वाली ग्राम पंचायत भटनवाली के भूपपुर, केदारपुर गांव की बस्तियों के लिए उठाऊ पेयजल योजना, पावंटा साहिब तहसील में 43 लाख रुपये की लागत से खोदरी माजरी और मानपुर दियोरा के लिए हर घर नल से जल योजना, पावंटा साहित तहसील में ग्राम पंचायत कोटरी ब्यास के कोटरी ब्यास चानपुर गांव की बस्तियों के लिए 2 करोड़ रुपये की लागत वाली उठाऊ पेयजल योजना, तहसील पावंटा साहिब में भू-जल आपूर्ति योजना डंडा अंज, अम्बोया, राजपुरा, डंडा कलाथा और शिव शमयाला में 34 लाख रुपये की लागत जल कनैक्शन प्रदान करने की योजना, जल शक्ति मंडल पांवटा साहिब में 45 लाख रुपये की लागत से नल से जल के तहत विभिन्न भू-जल आपूर्ति योजनाओं के अंतर्गत जल कनैक्शन प्रदान करने की कार्य योजना और पावंटा साहिब तहसील में ग्राम पंचायत मुगलांवाला करतापुर की विभिन्न बस्तियों के लिए 38 लाख रुपये की लागत से भू-जल आपूर्ति योजना शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने पावंटा साहिब तहसील में ग्राम पंचायत कुंडियों, बदरीपुर, भटावाली, जमनिवाला, नावाडा और शिवपुर के विभिन्न गांवों के लिए 1.19 करोड़ रुपये की लागत वाली उठाऊ पेयजल योजना, पांवटा साहिब तहसील में पिपलीवाला, जोहरों, पुरूवाल, शुभखेड़ा, तारूवाला, गोंदपुर, धर्मकोट और झाबा बस्ती गांव के लिए 4.20 करोड़ रुपये की लागत से लगने वाले ट्यूबवैल का कार्य, पांवटा साहिब तहसील में 7.47 करोड़ रुपये की लागत से ग्राम पंचायत डंडा पगर में तीन, ग्राम पंचायत भगाणी में चार, गोरखूवाला में चार, डोबरी सालवाला में तीन और ग्राम पंचायत खोदरी माजरी में दो ट्यूबवैल लगाने का कार्य, पांवटा साहिब विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न उठाऊ जल योजनाओं की पुरानी पम्पिंग मशीनरी तथा सम्बन्धित यंत्रों को बदलने के लिए 98 लाख रुपये, 6.83 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 33 के.वी. क्षमता का जगतपुर जोहरों विद्युत मण्डल पांवटा साहिब, 9.85 करोड़ रुपये की लागत वाला 33 के.वी. क्षमता का नगेटा सब-स्टेशन, पांवटा साहिब तहसील में जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 9.03 करोड़ रुपये की लागत से विभिन्न गांवों के लिए विकेन्द्रित सामुदायिक स्वामित्व वाली एकल सौर ऊर्जा आधारित जल आपूर्ति योजना और पांवटा कस्बे में 8.94 करोड़ रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना का संवर्द्धन कार्य शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने पांवटा साहिब के लोगों को शिमला से संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या में वृद्धि ने राज्य सरकार को राज्य के विभिन्न विकास कार्यों का ऑनलाइन उद्घाटन और शिलान्यास करने के लिए बाध्य किया है। उन्होंने कहा कि ये सभी परियोजनाएं एक साल के अंदर पूरी कर ली जाएंगी और वह व्यक्तिगत रूप से क्षेत्र का दौरा करके इन परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार ने अनेक कदम उठाए हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि सुख राम चौधरी राज्य मंत्रिमंडल में पांवटा साहिब से प्रतिनिधित्व करने वाले पहले चुने गए प्रतिनिधि है। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र का तेजी से विकास सुनिश्चित हुआ है। उन्होंने कहा कि आज देश और विश्व कोरोना महामारी के कठिन दौर से गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि इस बुरे दौर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व ने देश का सफलतापूर्वक मार्गदर्शन किया है।
मुख्यमंत्री ने पांवटा विधान सभा क्षेत्र के लोगों का मुख्यमंत्री कोविड फंड और पीएम केयर्स में 55 लाख रुपये का योगदान करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त, क्षेत्र के लोगों ने मास्क और सैनिटाइजर प्रदान करने के लिए उदारता से योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पांवटा साहिब क्षेत्र के विकास पर विशेष बल दे रही है। उन्होंने कहा कि यह सब स्थानीय विधायक और ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी के समर्पित नेतृत्व के कारण संभव हुआ है, जो क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा चिंतित रहते है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा यमुना नदी के चौनलाईजेशन के लिए 251 करोड़ रुपये की परियोजना को स्वीकृति दी गई है, जिससे क्षेत्र के लोगों को राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि लोगों को इस वायरस के फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी किए गए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का सख्ती से पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सर्दी के मौसम में इस वायरस के फैलने की अधिक संभावना है। उन्होंने राज्य के लोगों से अधिक सतर्क रहने और फेस मास्क और सामाजिक दूरी का पालन करने का आग्रह किया।
बहुउद्देशीय परियोजनाएं एवं उर्जा व गैर पारम्परिक उर्जा मंत्री सुख राम चौधरी ने 94 करोड़ की लागत से 23 परियोजनाओं के लोकार्पण तथा आधारशीला के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद करते हुए कहा कि यह परियोजनाएं क्षेत्र के लोगों के जीवन में बदलाव लाने में सहायक सिद्ध होंगी। उन्होंने कहा कि पेयजल आपूर्ति परियोजनाओं से लोगांे को पीने के लिए जहां स्वच्छ जल प्राप्त होगा वहीं पर किसानों को बेहतर सिंचाई सुविधा प्राप्त होगी, जिससे किसानों की आर्थिकी भी सुदृढ़ होगी।
सांसद व प्रदेश भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप ने क्षेत्र में करोड़ों रूपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से क्षेत्र के हजारांे लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के तीन वर्षों के कार्यकाल में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में राज्य के हर वर्ग और क्षेत्र का समान विकास हुआ है।
जल शक्ति, बागवानी और राजस्व मन्त्री महेन्द्र सिंह ठाकुर, उद्योग मन्त्री बिक्रम सिंह, प्रबन्ध निदेशक हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड आर.के. शर्मा मुख्यमंत्री के साथ शिमला में उपस्थित रहे, जबकि उपायुक्त सिरमौर डॉ. आर.के पुर्थी, पुलिस अधीक्षक सिरमौर खुशाल शर्मा, पांवटा साहिब नगर परिषद की अध्यक्षा सीमा चौधरी, बी.डी.सी प्रधान पांवटा रमेश तोमर के अतिरिक्त अन्य नेता भी पांवटा में उपस्थित थे।