मुख्यमंत्री ने दिए नाइट कर्फ्यू और वीक एंड लॉकडाउन लगाने के संकेत, 15 मई तक प्राचीन मंदिर और किले बंद

कोरोना महामारी के चलते भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने प्रदेश के प्राचीन ऐतिहासिक मंदिर और किले लोगों के लिए 15 मई तक बंद कर दिए हैं। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दिल्ली स्थित कार्यालय से ये आदेश जारी हुए हैं। इनमें लाहौल का प्राचीन मृकला देवी मंदिर, बैजनाथ शिव मंदिर, सिद्धनाथ मंदिर, कुल्लू जिले में दशाल स्थित गौरीशंकर मंदिर, गौरीशंकर मंदिर नग्गर, विशेश्वर महादेव मंदिर बजौरा, गौरीशंकर मंदिर जगतसुख, मनाली का देवी हिडिंबा का मंदिर, मंडी जिले में पंचवक्त्र मंदिर, अर्द्धनारीश्वर, बरसेला और त्रिलोकीनाथ मंदिर शामिल है।

इसके अलावा कांगड़ा और नूरपुर का किला, सुजानपुर का ऐतिहासिक टिहरा का महल और नर्वदेश्वर मंदिर भी बंद रहेगा। मंदिरों में हर रोज की तरह समयानुसार आरती होगी। मंडी में पुरातत्व विभाग के संरक्षक लक्ष्मी ढोबी ने इसकी जानकारी दी। उधर, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात, राजस्थान और पंजाब राज्य से आने वाले पर्यटकों के लिए सरकार की ओर से कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाने की सलाह देने के बाद प्रदेश में पर्यटक नदारद हो गए हैं।

भले ही इन सात राज्यों से आने वाले लोगों की कोविड रिपोर्ट प्रदेश की सीमाओं पर तैनात पुलिस कर्मियों से लेकर होटलों के कर्मचारी चेक नहीं कर रहे, लेकिन इस आदेश के चलते होटलों में एडवांस बुकिंग कम और रद्द होने के साथ-साथ आक्यूपेंसी भी आधे से कम हो गई है। होटल मालिकों ने कहा कि कोरोना रिपोर्ट चेक करने के लिए हमारे पास विशेषज्ञ नहीं हैं, इसलिए सरकार इसकी व्यवस्था करे।

तकनीकी विवि की स्नातक स्तर की परीक्षाएं स्थगित
हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के तहत स्नातक स्तर की परीक्षाएं शनिवार से स्थगित कर दी गई हैं। कुलपति प्रो. एसपी बंसल ने शुक्रवार को दडूही परिसर में चल रही बीटेक की री-अपीयर परीक्षा के केंद्र का निरीक्षण किया। केंद्र और प्रदेश सरकार के निर्देशों के चलते शनिवार से स्नातक स्तर के विषयों की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। स्नातकोत्तर विषयों की परीक्षाएं तय परीक्षा तिथियों के अनुसार जारी रहेगी।

 नाइट कर्फ्यू और वीक एंड लॉकडाउन लगाने के संकेत
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में भी वीक एंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगाने के संकेत दिए हैं।  शुक्रवार को राज्य सचिवालय में पत्रकारों से मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के मामले लगातार बढ़ते हैं तो सख्त फैसले लिए जा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने स्कूलों में छुट्टियां बढ़ाए जाने की संभावना भी जताई। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह खुद जिलों में जाकर कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। कांगड़ा और मंडी जिलों की समीक्षा बैठक ले चुके हैं और शनिवार को सोलन, फिर ऊना और हमीरपुर जिलों की समीक्षा करेंगे।