मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बड़ा बयान, यात्रा भत्ता बढ़ाना गलत है तो लिखकर दें विधायक

हिमाचल में विधायकों, मंत्रियों और पूर्व विधायकों का यात्रा भत्ता बढ़ाने को लेकर शुरू हुए विरोध के बीच मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बड़ा बयान दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यात्रा भत्ता बढ़ाना गलत है तो इस बाबत विधायक लिखकर दें, सरकार इस पर पुनर्विचार करेगी। राज्यस्तरीय शिक्षक पुरस्कार समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की धूमल और वीरभद्र सरकारों के समय भी विधायक वेतन बढ़ाने की मांग करते रहे हैं।

पूर्व की सरकारों ने विधायकों की मांग पर उनका वेतन भी बढ़ाया। हमने तो यात्रा भत्ते में मामूली बढ़ोतरी की है। यात्रा भत्ता भी विधायकों-मंत्रियों को तब मिलेगा, जब वे यात्रा पर जाएंगे। यात्रा से लौटने के बाद सभी टिकट लेखा शाखा में जमा करवाने होंगे। इन टिकटों का फिर ऑडिट होगा। सभी दस्तावेज सही पाए जाने पर विधायकों-मंत्रियों के बैंक खातों में यात्रा भत्ता आएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी विधायकों ने विधानसभा सदन में सर्वसम्मति से यात्रा भत्ता बढ़ाने के विधेयक को पास किया है। अब सदन से बाहर जाकर कुछ विधायक इसका विरोध कर रहे हैं, तो यह गलत है। उन्होंने कहा कि अगर विधायक इस बाबत लिखित में अपना विरोध जताएंगे तो सरकार इस मामले पर दोबारा विचार करेगी।