मिताली राज का अंतरराष्ट्रीय टी-20 से संन्यास, 2021 वर्ल्ड कप पर नजर

भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व कप्तान मिताली राज ने मंगलवार को टी20 क्रिकेट को अलविदा कह दिया ताकि 2021 में होने वाले 50 ओवरों के विश्व कप के लिये वनडे क्रिकेट पर फोकस कर सकें। दाएं हाथ की बल्लेबाज मिताली राज साल 2012, 2014 और साल 2016 में हुए टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की कप्तान रह चुकी हैं।

भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व कप्तान मिताली राज ने टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। हांलाकि मिताली राज वनडे क्रिकेट खेलती रहेंगी। गौरतलब है कि मिताली ने 32 टी-20 मुकाबलों में भारतीय टीम की बागडोर संभाली है। जिसमें 2012, 2014 और 2016 के महिला टी-20 वर्ल्ड कप शामिल है।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दिग्गज बल्लेबाज और पूर्व कप्तान मिताली राज ने टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। 36 वर्षीय मिताली ने एक कार्यक्रम में अपने रिटायरमेंट की घोषणा की। साल 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ अपना डेब्यू करने वाली मिताली ने भारत की ओर से 89 मैच खेलते हुए 37.52 की औसत से 2364 रन बनाए है, जिसमें 17 अर्धशतक शामिल है।

मिताली का कहना है कि “साल 2006 से अब तक भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करने के बाद मैं इस फॉर्मेट को अलविदा कहना चाहती हूं और अब मैं 2021 में होने वाले एकदिवसीय वर्ल्ड कप पर फोकस कर रही हूं। गौरतलब है कि मिताली राज भारत की पहली महिला टी20 कप्तान हैं, जिन्होंने साल 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ पहली बार भारतीय टीम की टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में कप्तानी संभाली थी।

इसके अलावा वे भारत के लिए सबसे पहले टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 2000 रन बनाने वाली खिलाड़ी बनी थीं। गौरतलब है कि मिताली राज ने रोहित शर्मा और विराट कोहली से पहले टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 2000 रन पूरे किए थे। मिताली ने 203 वनडे में 6720 रन बनाये हैं जिसमें सात शतक शामिल है। उन्होंने 10 टेस्ट में एक शतक समेत 663 रन बनाये हैं।

मिताली ने टी20 क्रिकेट में 89 मैचों में भारत के लिये सर्वाधिक 2364 रन बनाये हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 97 रन रहा। उन्होंने 1999 में इंग्लैंड के खिलाफ गुवाहाटी में टी20 क्रिकेट में पदार्पण किया था।  मिताली टी20 क्रिकेट में 2000 रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर थी।

उन्होंने बीसीसीआई द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा,‘‘देश के लिये विश्व कप जीतना मेरा सपना है और मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहती हूं। मैं बीसीसीआई को लगातार सहयोग के लिये धन्यवाद देती हूं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी श्रृंखला के लिये भारतीय टी20 टीम को शुभकामना देती हूं।’’