मानव भारती विवि से नौकरी छोड़ कर जाने लगे शिक्षक सहित स्टाफ

फर्जी डिग्री मामले को लेकर सुर्खियों में आए मानव भारती विवि में अब शिक्षक सहित अन्य स्टाफ नौकरी छोड़ने लगा है। अभी तक 60 स्टाफ सदस्यों में से करीब 25 ने नौकरी छोड़ दी है। इसका कारण फर्जी डिग्री मामले के बाद कोविड के बीच स्टाफ सदस्यों को वेतन न देना बताया जा रहा है। हालांकि, वर्तमान में स्टाफ को नियमित वेतन दिया जा रहा है, लेकिन पिछले कई माह से लंबित वेतन उन्हें नहीं मिल सका है।

वहीं, विद्यार्थियों के भविष्य को देखते हुए विवि के प्रशासक ने संबंधित रिक्त पदों को भरने की कवायद भी शुरू कर दी है। इनमें प्रोफेसर, सहायक प्रोफेसर सहित अन्य रिक्त पद भरे जाएंगे। फर्जी डिग्री का मामला सामने आने के बाद विवि सील हो गया था। इस कारण स्टाफ को कई माह तक वेतन नहीं मिला। इसके बाद विवि में तैनात कई प्रोफेसर, सहायक प्रोफेसर सहित अन्य स्टाफ नौकरी छोड़ कर चले गए हैं। अब विवि में प्राध्यापकों की भारी कमी हो गई है।

रिक्त पदों के लिए होगा इंटरव्यू
प्रशासक मानव भारती विवि राजीव कुमार ने बताया कि विवि में विभिन्न विभागों के प्रोफेसर सहित अन्य स्टाफ नौकरी छोड़कर चला गया है। विवि में पढ़ रहे विद्यार्थियों की पढ़ाई पर कोई बाधा न आए, इसके लिए विवि में चार व आठ जनवरी को इंटरव्यू रखे गए हैं। प्रोफेसर और सहायक प्रोफेसर सहित अन्य स्टाफ के रिक्त पद पद भरे जाएंगे।