भारतीय सेना के जवानों की पेंशन घटाने को लेकर पूर्व सैनिकों ने किया विरोध प्रदर्शन

भारतीय सेना के जवानों की पेंशन घटाने पर अब तक स्थिति स्पष्ट न होने से आक्रोशित पूर्व सैनिकों ने सुजानपुर ब्लॉक कांग्रेस के बैनर तले विरोध प्रदर्शन किया। इसमें विधायक राजेंद्र राणा विशेष रूप से उपस्थित रहे। विरोध प्रदर्शन में कोरोना काल में अपनाई जा रही डब्ल्यूएचओ की विशेष हिदायतों पर अमल करते हुए सामाजिक दूरी व मास्क आदि का विशेष ध्यान रखा गया। शनिवार को पूर्व सैनिक व कांग्रेस पदाधिकारियों ने सुजानपुर बाजार से रैली निकालते हुए व पेंशन घटाने के किसी भी निर्णय के विरोध में नारेबाजी की।
इस अवसर पर आयोजित बैठक में पूर्व सैनिकों ने निर्णय लिया कि अगर पेंशन घटाने संबंधी बिल को केंद्र सरकार लेकर आई, तो पूरे देश में पूर्व सैनिक जन आंदोलन छेड़ते हुए इसके विरोध में उतर जाएंगे। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने कहा कि पेंशन कटौती मुद्दे की लड़ाई अकेले सैनिकों या उनके परिजनों की नहीं है, इस मुश्किल घड़ी में देश का हरेक नागरिक उनके साथ खड़ा है।

उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने पेंशन में कटौती संबंधी विधेयक पारित किया, तो अभी सरकार की कृषि संबंधी कानून के खिलाफ किसानों ने राष्ट्रव्यापी आंदोलन छेड़ा है और जल्द ही पूरे हिमाचल के साथ देशव्यापी आंदोलन पूर्व सैनिक शुरू करेंगे, जिसमें वे स्वयं आगे चलकर कदम से कदम मिलाएंगे। सैनिक हमारी सुरक्षा के लिए सीमा पर डटे रहते हैं, बलिदान देते हैं और परिवार से भी दूर रहते हैं। उन्होंने चिंता जाहिर की है कि जय जवान, जय किसान के भारत देश में केंद्र सरकार की गलत नीतियों से दोनों वर्गों को खतरा पैदा हो गया है। बैठक में प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया के चेयरमैन अभिषेक राणा, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन ज्योति प्रकाश, पूर्व सैनिक विभाग के संयोजक सूबेदार मदन लाल अन्य उपस्थित रहे।