24 घंटे चल रहा है भव्य राम मंदिर निर्माण कार्य: चंपत राय

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए तेजी से काम चल रहा है। राम मंदिर परिसर का विस्तार 70 एकड़ से बढ़ाकर 107 एकड़ करने की योजना के तहत श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम जन्मभूमि परिसर के पास 7,285 वर्ग फुट जमीन खरीदी है। मुख्य मंदिर का निर्माण पांच एकड़ जमीन पर किया जाएगा और बाकी जमीन पर संग्रहालय और पुस्तकालय जैसे केंद्र बनाए जाएंगे। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महासचिव चंपत राय ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मंदिर निर्माण का कार्य 24 घंटे चल रहा है। 12-12 घंटे की दो पाली में कार्य हो रहा है। लगभग एक लाख 20 हजार घन मीटर मलबा निकाला गया है।

एक फुट मोटी लेयर बिछाकर रोलर से कॉम्पैक्ट करने में 4 से 5 दिन लग रहे है। अक्तूबर माह तक काम पूर्ण होने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि मंदिर निर्माण में लगे सभी मजदूर और इंजीनियर रामलला की विशेष कृपा से स्वस्थ हैं। परकोटा सीधा करने के लिए जितनी जमीन की आवश्यकता थी, वह काम हो चुका है। पश्चिम के परकोटे का कोना ठीक होना बाकी है। श्रीरामजन्मभूमि परिसर में नींव के लिए लगातार चली खुदाई के बाद विशेषज्ञों की सलाह से यह निर्णय लिया गया कि नींव भराई का कार्य रोलर कम्पैक्ट कंक्रीट तकनीक से किया जाएगा।

लगभग 1,20,000 स्क्वायर फुट क्षेत्र में अभी चार परत बिछाई जा चुकी हैं। कुल 40-45 ऐसी ही परत बिछाई जाएंगी। निर्माण कार्य की बारीकियों की चर्चा करते हुए श्री राय ने कहा कि चार लेयर एक के ऊपर एक 400 फुट लंबाई, 300 फुट चौड़ाई पर डाल दी गई हैं। उन्होंने बताया कि एक लेयर 12 इंच मोटी बिछा कर रोलर से दबाया जाता है, जब 2 इंच दबकर लेयर 10 इंच हो जाती है, तब दूसरी लेयर बिछाते हैं। इस प्रकार की 40-45 लेयर डालनी हैं। श्री राम जन्मभूमि मंदिर का भूमि पूजन पांच अगस्त, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों हुआ था। मंदिर का निर्माण वर्ष 2023 अक्तूबर तक पूरा होने का लक्ष्य है।