बीएसएल झील में मिली डीएफओ की लाश, सोलन जाते समय सुंदरनगर बस स्टैंड में शौच के लिए रुकवाई थी गाड़ी

वन विभाग में कार्यरत डीएफओ हैडक्वार्टर मंडी का शिमला जाते समय बीएसएल जलाशय सुंदरनगर से शव तैरता हुआ बरामद हुआ, जिससे क्षेत्र में सनसनी का माहौल बना हुआ है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने सैंपल लेकर जांच के लिए आरएफएसएल मंडी को भेज दिए हैं। रिपोर्ट आने के बाद भी मौत के असल कारणों का पता चलेगा कि इतना बड़ा कदम किस एवज में उठाया गया है। वहीं, परिजनों ने भी इस हादसे में कोई भी किसी तरह की शंका जाहिर नहीं की है। हैरानी की बात यह है कि शौच करने गए हुए डीएफओ का इस प्रकार से शव बरामद होने से मृत्यु के कारणों को लेकर कई कयास लगाए जा रहे हैं। 56 वर्षीय मुंशीराम पुत्र दीपू राम निवासी लुहाखर तहसील बल्ह जिला मंडी हायर की गईनिजी गाड़ी में सवार होकर शुक्रवार सुबह शिमला होते हुए सोलन जा रहे थे।

इसी दौरान जब गाड़ी सुंदरनगर बस स्टैंड के समीप पहुंची तो उन्होंने गाड़ी चालक को गाड़ी रोककर सुबह साढ़े पांच बजे के करीब शौच करने के लिए कहा, लेकिन काफी देर तक जब मुंशीराम शौच कर वापस नहीं आए तो गाड़ी चालक ने उन्हें यहां वहां ढूंढा और फोन भी भी संपर्क किया, लेकिन फोन म्यूट होने की सूरत में गाड़ी में ही था। लेकिन उनका कोई अता-पता नहीं चला। आठ बजे के आसपास स्थानीय लोगों ने बीएसएल जलाशय में एक शव तैरता हुआ देखा तो इसकी सूचना पुलिस और प्रशासन को दी। थाना प्रभारी निरीक्षक अंकुर कुमार और एसडीएम धर्मेश रामौत्रा भी मौके पर पहुंचे। शव की पहचान डीएफओ हैडक्वार्टर मंडी मुंशी राम के रूप में हुई। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों व गाड़ी चालक , उनके बेटे व भाई के बयान दर्ज किए हैं। डीएसपी सुंदरनगर दिनेश कुमार ने मामले की पुष्टि की है।