पच्छाद: मतदाताओ की सूचियों को लेकर लोगों में गहरा रोष

सराहां: उपमंडल पच्छाद के अंतर्गत आने वाली कई पंचायतों के मतदाताओं में इन दिनों पंचायती राज विभाग द्वारा जारी मतदाताओ की सूचियों को लेकर गहरा रोष व्याप्त है।जहाँ पर चुनाव लड़ने के इच्छुक उमीदवार जो इससे पहले विधानसभा व लोकसभा के चुनाव में अपने मतदान का प्रयोग कर चुके है।इस पंचायती राज चुनाव में अपना नाम ही मतदाता सूची से गायब होने पर हैरान है।
वही कुछ लोग यह भी दावा कर रहे है कि उनके इलाके की वोटर लिस्ट में ऐसे मतदाता भी है।जिनका उनकी पंचायत से कोई लेना देना नही है न ही वो वहाँ के बाशिंदे है न ही स्थानीय लोग उन्हें जानते है फिर भी उनके नाम वोटर लिस्ट में कहाँ से आय।जबकि स्थानीय युवा जो वास्तव में वोट देने के हकदार है उनके वोट ही नही बनाए गये है जो कि सरासर लोकतंत्र के खिलाफ है।इलाके से विजय ठाकुर ने बताया कि उनकी पत्नी ने गत विधान सभा व लोक सभा के चुनाव में अपने मत का प्रयोग किया व वो इस बार पंचायती राज चुनाव में प्रधान पद के लिये चुनाव लड़ना चाहती थी लेकिन उनके पैरों तले उस समय जमीन खिसक गई जब उन्हें पता चला कि उनका नाम ही वोटर लिस्ट में नही है।

वही इलाके के बाबू राम शास्त्री,सोम दत्त ठाकुर, तारा दत्त शर्मा,योगेन्द्र दत्त इत्यादि ने बताया कि उनके इलाके में 160 से अधिक फर्जी वोटरों की शिनाख्त उन्होंने कर ली है।उनका कहना के की यह तो सिर्फ एक दो पंचायत का ही आंकड़ा है।जबकि अगर पूरे विकास खंड की बात करें तो बहुत सारी पंचायतों में फर्जी वोट बने हुए है।वही स्थानीय निवासी अतुल अग्रवाल ने शिकायत की है कि कुछ उमीदवार जिनके परिजनों पर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने का केस दर्ज है उन्होंने भी नामांकन पत्र दाखिल किया है।
इन सभी मुद्दों को लेकर लोगो मे भारी रोष व्याप्त है। इसी बाबद आज एक प्रतिनिधि मंडल ने एक ज्ञापन एसडीएम पच्छाद डॉ शशांक गुप्ता को दिया है।जिसमे चुनाव से पहले इलाके की सभी पंचायतों की मतदाता सूचियों की जांच कर फर्जी वोटरों व जिन्होंने उनके वोट बनाए उनकी जांच करने की मांग की है व जो वास्तव मे वोट देने के अधिकारी है जिनका नाम वोटर लिस्ट में छूट गया है उनका नाम वोटर लिस्ट में डालने की अपील की है। उधर इस संदर्भ में जब एसडीएम पच्छाद डॉ शशांक गुप्ता से बात की तो उन्होंने बताया कि उन्हें शिकायत मिली है ।जो कि उन्होंने उपायुक्त सिरमौर के संज्ञान में लाने के लिये विभागीय प्रणाली के तहत आगे भेज दी है।आगे जैसा उनका आदेश होगा वैसी कारवाई अमल में लाई जायगी।