बढ़ा हुआ यात्रा भत्ता: सुखु ने कहा, मना करने वाले विधायकों को वेतन भी छोड़ना चाहिए

हिमाचल विधानसभा के मॉनसून सत्र के अंतिम दिन माननीयों ने सर्वसहमति से अपना यात्रा भत्ता तो बढ़ा दिया, लेकिन अब यह उनके लिए गले की फांस बन गया है। कुछ विधायक तो यह भी कह चुके हैं कि वे बढ़ा हुआ यात्रा भत्ता नहीं लेंगे।
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी कह दिया कि अगर कोई भत्ता नहीं लेना चाहता है तो सरकार को लिखकर दें, सरकार इस पर पुनर्विचार करेगी। अब पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और नादौन से विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने भी बयान दिया है।

सुक्खू ने कहा कि कुछ विधायक भत्ता न लेने की बात कह रहे हैं। उन विधायकों को अपना वेतन और सभी तरह के भत्ते भी छोड़ने चाहिए। क्योंकि इस भत्ते को 68 में से 60 विधायक ही लेते हैं। सुक्खू ने कहा कि जब बिल को सदन में लाया गया था उस पर मैंने भी चर्चा की थी।

लेकिन न तो विधायकों का वेतन बढ़ा और न ही भत्ता। केवल यात्रा के लिए किया जाने वाले क्लेम की आउटर लिमिट बढ़ी है। लेकिन सोशल मीडिया में इस तरह से चर्चा हो रही है जैसे माननीयों का वेतन बढ़ाया गया हो।